बड़ी खबर राजनीति

चिदंबरम बोले “भारत एक अनूठा संसदीय लोकतंत्र, जहाँ कोई सवाल नहीं पूछ सकता”

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने एक बार फिर मोदी सरकार पर हमला बोला है। चिदंबरम ने संसदीय लोकतंत्र, प्रवासी मजदूरों की मौत के आंकड़े और अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर सीधा हमला बोला है।

चिदंबरम ने मानसून सत्र में प्रश्नकाल को लेकर सवाल खड़े किये और कहा कि भारत एक अनूठा संसदीय लोकतंत्र है, जहाँ कोई प्रश्न नहीं पूछ सकता और जहाँ कोई बहस की अनुमति नहीं है।

चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा कि “भारत आज एक अनूठा संसदीय लोकतंत्र बन गया है,जहां कोई प्रश्न नहीं पूछा जा सकता और जहां कोई बहस की अनुमति नहीं है। भारत आज एक ऐसा अनोखा देश बन गया है, जहाँ ऐसे प्रवासियों का कोई डेटा नहीं है, जो घर वापस आने के बाद लंबे समय तक घर पर रहे या मर गए।”

एक अन्य ट्वीट में चिदंबरम ने अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने ट्वीट कर कहा “भारत आज एक अनोखी अर्थव्यवस्था है जहाँ जीडीपी के 1.7 प्रतिशत तक नकद या अनाज हस्तांतरण को ‘पर्याप्त राजकोषीय प्रोत्साहन’ माना जाता है। भारत आज एक चमत्कारिक राष्ट्र है, जहाँ 3 महीने में ‘सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था’ से ‘सबसे तेजी से डूबती विकास’ वाली अर्थव्यवस्था में बदल गई है।”

गौरतलब है कि इससे पहले भी पी चिदंबरम अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर मोदी सरकार को लगातार घेरते रहे हैं। जीडीपी में आई बड़ी गिरावट को लेकर भी चिदंबरम ने मोदी सरकार पर मिस मैनेजमेंट का आरोप लगाया था।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें