देश बड़ी खबर

पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में बीएसएफ जवान सुमित कुमार गिरफ्तार

चंडीगढ़। अवैध ड्रग्स और हथियारों के कारोबार का संचालन करने के आरोपी एक गिरोह के खुलासे के सरगना के तौर पर बीएसएफ जवान सुमित कुमार का नाम सामने आया है। यह गिरोह न सिर्फ अवैध हथियारों और ड्रग्स के धंधे में लिप्त था बल्कि इसका सरगना पाकिस्तान को ख़ुफ़िया जानकारी भी मुहैया कराता था।

बीएसएफ के डीआइजी अखिलेश्वर सिंह ने कॉन्टेबल सुमित कुमार के पकड़े जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि हम जासूसी के एंगल से भी मामले की जांच कर रहे हैं, अभी कोई जानकारी नहीं दी जा सकती है।

पंजाब पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार बीएसएफ कॉन्स्टेबल सुमित कुमार के पास सेविदेशी निर्मित हथियार, जिसमें एक 9 एमएम पिस्टल (जिगना मेक-मेड इन तुर्की), 80 जिंदा कारतूस (पीओके के चिह्नों के साथ नक्काशीदार), एक 12 बोर बंदूक, दो मैगजीन और दो जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। इसके अलावा 32.30 लाख रुपये भी बरामद हुए हैं।

जानकारी के मुताबिक आरोपी कांस्टेबल सुमित कुमार इंटरनेट कॉलिंग के माध्यम से सीमा पार पीओके में बैठे देश विरोधी लोगों से संपर्क बनाये हुए था। गिरफ्तार किये गया सुमित कुमार बीएसएफ की 173 बटालियन में कांस्टेबल है और वह मंगू चक सीमा चौकी पर तैनात था। सुमित मूल रूप से गुरदासपुर जिले के दोरांगला पुलिस स्टेशन के मगरमुंडिया गांव का रहने वाला है। उसे जम्मू के सांबा जिले से गिरफ्तार किया गया है।

मामले के खुलासे के बाद इसे गंभीर मामला मानते हुए गहराई से जांच की जा रही है। जांच एजेंसियों को शक है कि सुमित के साथ कुछ अन्य लोग भी इस काम में शामिल हो सकते हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें