बड़ी खबर राजनीति

बीजेपी अध्यक्ष ने तब्लीगी जमात मामले में पार्टी नेताओं को दी ये नसीहत!

नई दिल्ली। निजामुद्दीन मर्कज़ में लॉकडाउन के दौरान आयोजित किये गए तब्लीगी जमात के कार्यक्रम का खुलासा होने के बाद कोरोना संक्रमण के लिए सोशल मीडिया पर मुसलमानो को निशाना बनाये जाने के मामले पर गंभीरता दिखाते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अपनी पार्टी के नेताओं को नसीहत की है।

पार्टी सूत्रों की माने तो बीजेपी अध्यक्ष ने पार्टी नेताओं को तब्लीगी जमात मामले में बेवजह के बयान न देने की हिदायद दी है। सूत्रों ने कहा कि हाल ही में हुई बीजेपी के राष्ट्रीय पदाधिकरियों की बैठक में जे पी नड्डा ने कहा कि बीजेपी का कोई नेता विभाजनकारी या भड़काऊ बयान न दे।

वहीँ एक मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने पार्टी नेताओं से कहा कि ‘कोरोना वायरस से सभी धर्मों के लोग प्रभावित और बीमार हो रहे हैं। ऐसे में किसी भी धार्मिक दृष्टिकोण वाला बयान देते समय बेहद सावधानी बरती जानी चाहिए। ऐसा कोई बयान नहीं दिया जाना चाहिए जिससे कोई उत्तेजना भड़के।’

गौरतलब है कि तब्लीगी जमात का मामला सामने आने के बाद कुछ बीजेपी नेताओं के तब्लीगी जमात के आलोचना वाले बयान मीडिया की सुर्खियां बने थे। इनमे केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी, उत्तर प्रदेश में बीजेपी विधायक संगीत सोम और बीजेपी नेता शाहनवाज़ हुसैन भी शामिल हैं।

बता दें कि निजामुद्दीन मर्कज़ का मामला प्रकाश में आने के बाद ट्विटर पर मुसलमानो को कोरोना संक्रमण फैलाने के लिए ज़िम्मेदार ठहराते हुए कई ट्रेंड चलाये गए थे। ट्विटर पर चलाये गए ट्रेंड को लेकर अमेरिका ने भी अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी थी।

अमेरिका के विशेष राजदूत सैमुअल ब्राउनबैक ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, ‘अमेरिकी प्रशासन ने पिछले कुछ दिनों में कई ऐसे मामले देखे हैं जिसमें इस बीमारी के लिए अल्पसंख्यक समुदाय को आरोपित किया जा रहा है।’

उन्होंने कहा, ‘सरकार को इस मामले में स्पष्ट करना चाहिए कि जमात के लोग कोरोना के श्रोत नहीं हैं। हम जानते हैं कि यह एक महामारी है जिससे पूरा विश्व जूझ रहा है। इसका धार्मिक अल्पसंख्यकों से कोई लेना देना नहीं है लेकन दुर्भाग्य से मैं इस तरह का आरोप लगता देख रहा हूं। मुझे उम्मीद है कि सरकार इस मुद्दे को संबोधित करेगी और लोगों के सामने सख्ती से अपनी बात रखेगी।’

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
Support us to keep Lokbharat Live, Give a small Contribution of Rs.100 to Support Fearless & Fair Journalism
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें