मध्यप्रदेश राज्य

कांग्रेस विधायकों को ऑफर दे रहे बीजेपी नेता, कमलनाथ ने लिखा चुनाव आयोग को पत्र

भोपाल ब्यूरो। मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा के उपचुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी की तरफ से कांग्रेस विधायकों को फोन कर प्रलोभन दिया जा रहा है। यह आरोप पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने लगाया है। उन्होंने उपचुनाव निष्पक्ष कराये जाने के लिए चुनाव आयोग को पत्र भी लिखा है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक कमलनाथ ने कहा कि मार्च महीने में मैंने सौदेबाजी की राजनीति से इंकार कर दिया था, सौदेबाजी की राजनीति मैं भी कर सकता था। मैंने चुनाव आयोग को आज पत्र लिखा है कि ये चुनाव निष्पक्ष होना चाहिए।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि बीजेपी (BJP) को स्पष्ट लग रहा है कि इस चुनाव के क्या परिणाम आने वाले हैं। 10 नवंबर का इतना डर लग रहा है कि वे फिर से बाज़ार में चल पड़े हैं कि जो मिल जाए उसे खरीद लो। मुझे कई विधायकों के फोन आए हैं कि बीजेपी उनको फोन कर रही है और ऑफर दे रही है।

गौरतलब है कि कल दमोह से कांग्रेस विधायक राहुल लोधी ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था और वे भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए थे। इससे पहले कांग्रेस के 25 विधायक विधानसभा से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो चुके हैं, जिसके कारण राज्य की कमलनाथ सरकार गिर गई थी।

ये भी पढ़ें:  यूपी: अवैध धर्मांतरण रोधी अध्यादेश को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की मंजूरी

कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आये कई पूर्व विधायकों को बीजेपी ने टिकिट दिया है और वे फिर से बीजेपी के टिकिट पर चुनाव मैदान में हैं। हालांकि अधिकांश उम्मीदवारों को विरोध झेलना पड़ा रहा है।

जानकारों का कहना है कि बीजेपी का इस्तीफा खेल अभी समाप्त नहीं हुआ है और 03 नवंबर को मतदान से पहले उसकी कोशिश होगी कि कुछ अन्य कांग्रेस विधायकों को भी तोडा जाए, जिससे विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा कम हो सके।

राहुल लोधी के इस्तीफे के बाद अब विधानसभा की एक सीट और रिक्त होने पर बहुमत का आंकड़ा 115 का हो गया है। विधानसभा की वर्तमान स्थिति को देखें तो बीजेपी के पास 107 विधायक हैं और उसे बहुमत के लिए अब सिर्फ 8 सीटों की जरूरत होगी तो वहीं कांग्रेस के लिए उपचुनाव की सभी 28 सीट जीतना जरूरी होगा।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें