चुनाव बड़ी खबर

एनडीए बनाम महागठबंधन: ऐसा रहा रैलियों का हाल

पटना ब्यूरो। बिहार में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन रैलियों को संबोधित किया वहीँ पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दो चुनावी रैलियों को संबोधित किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज बिहार में सासाराम, गया और भागलपुर में चुनावी रैलियों को संबोधित किया। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार देहरी और भागलपुर की रैलियों में पीएम मोदी के साथ मंच साझा किया।

पीएम मोदी की रैली को लेकर बिहार बीजेपी खासी उत्साहित थी लेकिन आज हुई रैलियों में पीएम नरेंद्र मोदी का भाषण लोकसभा चुनाव की तरह जोशीला नहीं था। इसका अहम कारण उम्मीद के मुताबिक भीड़ नहीं जुटना माना जा रहा है। पीएम मोदी ने अपने भाषणों में भोजपुरी भाषा का भी इस्तेमाल किया।

पीएम मोदी ने बिहार के विकास के लिए जेडीयू-बीजेपी की सरकार को आवश्यक बताया। उन्होंने कहा कि कि बिहार आत्मनिर्भरता के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है। अगर बिहार में विरोध और अवरोध को जरा भी मौका मिला तो बिहार की गति और प्रगति दोनों धीमी पड़ जाएगी इसलिए, नीतीश जी की अगुवाई में भाजपा, जेडीयू, हम और VIP के गठबंधन यानि एनडीए को एक-एक वोट पड़ना चाहिए।

पीएम नरेंद्र मोदी ने नए कृषि कानूनों को सही करार देते हुए कहा कि जब ये लोग सरकार में थे उसकी तुलना में बिहार में ही धान की सरकारी खरीद चार गुना और गेहूं की सरकार खरीद पांच गुना बढ़ी है। इनके पास आज तक इसका जवाब नहीं है कि जब इनकी सरकार थी तब MSP पर फैसला क्यों नहीं लिया?’

ये भी पढ़ें:  गुलामनबी आज़ाद ने कहा 'चुनाव में हार से हम सभी चिंतित, काम करने के तरीके बदलने होंगे'

उन्‍होंने कहा कि ये एनडीए की ही सरकार है जिसने किसानों को लागत का डेढ़ गुना MSP देने की सिफारिश लागू की थी। ये एनडीए की ही सरकार है जिसने सरकारी खरीद केंद्र बनाने और सरकारी खरीद, दोनों पर बहुत जोर दिया है। एनडीए के विरोधी दल जब किसानों के लिए कुछ कर नहीं पाए तो अब किसानों को लगातार झूठ बोलने में जुट गए हैं। आजकल ये लोग MSP को लेकर अफवाहें फैला रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा, ‘बिहार में पहले जो सरकारें रही उन्होंने आदिवासियों के कल्याण के लिए उन्हें शोषण से मुक्ति दिलाने के लिए सिर्फ और सिर्फ झूठे वादे किए। अब एनडीए सरकार आदिवासी बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ, उनके लिए घर, उनके लिए रोजगार पर पूरा ध्यान दे रही है।’

उन्‍होंने कहा कि सामान्य जन की सुविधा के लिए, बिहार के युवा के रोजगार और स्वरोजगार के लिए बिहार के इंफ्रास्ट्रक्चर पर ध्यान देना बहुत ज़रूरी था। इसी सोच के साथ बिहार के लिए 1.25 लाख करोड़ रुपए का प्रधानमंत्री पैकेज घोषित किया गया था।

वहीँ दूसरी तरफ पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी सभाओं में केंद्र सरकार पर कड़े प्रहार किये। राहुल गांधी ने कहा पीएम मोदी ने देश की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी है। नरेंद्र मोदी और नीतीश मोदी ने किसानों, युवाओं को कमजोर कर दिया। ये देश युवाओं को रोजगार नहीं दे सकता है।

राहुल गांधी ने कहा बिहार के लोग पूरे देश को चला रहे हैं लेकिन, बिहार को कौन चलाएगा? उन्होंने कहा कि आपको फैसला लेना है। अब, बिहार में किसान, मजदूर, युवाओं, छोटे दुकानदारों और गरीबों की सरकार बनाने की बारी है।

ये भी पढ़ें:  ममता ने ओवैसी के इरादों को दिया झटका, AIMIM के 17 बड़े नेता तृणमूल कांग्रेस में शामिल

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने शहर और गांव का फर्क खत्म कर दिया है। हमें शहर और गांव की रक्षा करनी है। नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार कुछ चुने हुए लोगों के लिए सरकार चलाते हैं। उन्होंने कहा कि टीवी पर सिर्फ पीएम मोदी दिखते हैं। वो गरीबों का पैसा लूटकर तीन-चार अमीरों को देते हैं।

नोट बंदी और जीएसटी की याद दिलाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि गरीबों का पैसा निकाल लिया गया। देश की सीधी जनता को ठगा गया। गरीबों के पैसे को अमीरों की जेबों में डाल दिया गया। पहली कुल्हाड़ी नोटबंदी और दूसरी कुल्हाड़ी जीएसटी की मारी।

राहुल गांधी ने कहा कि हमारी सरकार ने 70 हजार करोड़ का किसानों का कर्जा माफ किया. मध्यप्रदेश, पंजाब, छत्तीसगढ़ में कर्जा माफ किया है। इतना ही नहीं राहुल गांधी ने चीन के मुद्दे पर भी पीएम मोदी पर सीधा हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि चीन की सेना भारत की सीमा में है। भारत की 1,200 किलोमीटर जमीन पर चीन का कब्जा है और पीएम मोदी झूठ बोल रहे हैं। पीएम मोदी शहीदों के सामने सिर झुकाने की बात करते हैं और चीन पर कुछ नहीं बोलते हैं।

राहुल गांधी ने देश में कोरोना से पैदा हुए हालतो पर भी मोदी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि 22 दिनों में कोरोना ठीक होने की बात की गई और ऐसा नहीं हुआ। बिहार के लोगों को दिल्ली से भूखे-प्यासे भगा दिया। मजदूरों की मदद नहीं की और सिर झुकाने की बात करते हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें