दुनिया बड़ी खबर

इस छोटे से देश ने किया कोरोना की दवा ढूंढने का दावा, 4 दिन में 60 मरीज फिट

नई दिल्ली। कोरोना की दवा को लेकर अब तक कई देशो की तरफ से रिसर्च किये जाने की खबरों के बीच बांग्लादेश ने दावा किया है कि उसने कोरोना संक्रमण का इलाज ढूंढ लिया है और यह इलाज काफी कारगर सिद्ध हो रहा है।

कोरोना की कारगर दवा को ढूढ़ने का दावा बांग्लादेश में डॉक्टरों की एक टीम ने किया है, इस टीम में कई सीनियर डॉक्टर शामिल हैं। डॉक्टरों की इस टीम का दावा है कि उन्होंने दो दवाओं के कॉंबिनेशन का इस्तेमाल कर मात्र चार दिनों में 60 मरीजों को ठीक किया है।

डॉक्टरों के मुताबिक दो दवाओं का कॉबिनेशन जिन मरीजों के इलाज के लिए इस्तेमाल किया गया, वे क्रिटिकल स्टेज पर पहुँच चुके थे और उनकी स्थति ख़राब होने की संभावनाएं बढ़ चुकी थीं। इनमें से कई मरीजों को सांस लेने में तकलीफ की समस्या थी. बाद में ये कोरोना पॉजिटिव पाए गए।

पीटीआई की खबर के मुताबिक इस टीम का नेतृत्व कर रहे बांग्लादेश मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के मेडिसिन डिपार्टमेंट के हेड प्रोफेसर डॉक्टर मोहम्मद तारेक आलम ने कहा है कि हमने दवा का हैरतअंगेज असर देखा है।

उन्होंने कहा है कि हमने 60 मरीजों पर इन दवाओं का इस्तेमाल किया और सारे मरीज ठीक हो गए। डॉक्टरों ने उन पर दो दवाओं के कॉम्बिनेशन का इस्तेमाल किया था। उन्होंने कहा है कि उन्होंने दो दवाओं के कॉम्बिनेशन का इस्तेमाल किया। इसमें पहली दवा antiprotozoal के तौर पर इस्तेमाल होने वाली मेडिसिन Ivermectin, इस दवा के सिंगल डोज के साथ एंटीबायोटिक दवा Doxycycline दी गई। इन दो दवाओं का इस्तेमाल का मरीजों पर काफी अच्छा असर हुआ।

डॉक्टर तारेक आलम ने दोनों दवाओं को बेहद कारगर और असरदायक बताया। डॉक्टर तारेक का दावा है कि इन दो दवाओं के इस्तेमाल से कोरोना के मरीज सिर्फ 4 दिन में ठीक हो गए. उनमें दवाओं के कोई साइड इफेक्ट भी देखने में नहीं आए।

उन्होंने कहा है कि पहले हमने उनका कोरोना टेस्ट करवाने को कहा, जब वो पॉजिटिव पाए गए तो उन पर इन दो दवाओं का इस्तेमाल किया गया. वो चार दिन में ठीक हो गए। डॉक्टर तारेक ने बताया है कि ठीक हुए मरीजों का दोबारा भी टेस्ट् करवाया गया है. दूसरे टेस्ट में भी वो नेगेटिव पाए गए हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
Support us to keep Lokbharat Live, Give a small Contribution of Rs.100 to Support Fearless & Fair Journalism
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें