देश बड़ी खबर

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा ‘बाबरी मस्जिद हमेशा थी और रहेगी’

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम को लेकर आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने भी प्रतिक्रिया दी है।

मंगलवार को आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा कि ‘बाबरी मस्जिद हमेशा से मस्जिद थी और रहेगी। तुर्की में हागिया सोफिया का उदाहरण देते हुए एआईएमपीएलबी ने कहा कि भूमि का अनाधिकारिक तौर पर ग्रहण किया गया. फैसले को बहुमत की अपील कहा गया।

एआईएमपीएलबी ने ट्वीट कर कहा कि ‘बाबरी मस्जिद थी और हमेशा एक मस्जिद रहेगी। हागिया सोफिया हमारे लिए एक बेहतरीन उदाहरण है। अन्यायपूर्ण, दमनकारी, शर्मनाक और बहुसंख्यक तुष्टिकरण फैसले द्वारा भूमि का अनाधिकारिक तौर पर ग्रहण इसे बदल नहीं सकता है। दिल तोड़ने की जरूरत नहीं है। स्थिति हमेशा के लिए नहीं रहती है। यह राजनीति है।’

वहीँ पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा अयोध्या में राम जन्मभूमि की आधार शिला रखे जाने को लेकर आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने संविधान की मूल भावनाओं का उल्लंघन किया है। एक चैनल के कार्यक्रम में ओवैसी ने कहा कि वे देश की सरकार के प्रधानमंत्री हैं और सरकार सभी धर्मो की होती है। इसलिए पीएम मोदी को धर्मिक कार्यक्रम में शामिल नहीं होना चाहिए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें