बड़ी खबर विशेष

रोज़ा रखने के साथ अपनी ड्यूटी को पूरी ज़िम्मेदारी से निभा रही है ये गर्भवती नर्स

अहमदाबाद। कोरोना महामारी के बीच जहां अपने ही अपनों के शवों को हाथ लगाने के लिए तैयार नहीं हैं, वहीँ सूरत के कोविड केयर सेंटर में तैनात एक नर्स रोज़ा रखने के साथ ही अपनी ड्यूटी को पूरी मुस्तैदी से कर रही है।

नैंसी आयजा मिस्‍त्री नामक यह नर्स इसलिए भी चर्चा में हैं क्यों कि वह चार महीने का गर्भ होने के बावजूद न सिर्फ पूरा वक़्त मरीजों की देखरेख में लगा रही है बल्कि रमजान के महीने में अपने रोज़े भी रख रही है।

जब नैंसी से पूछा गया कि आखिर वह रोज़ा रखने के साथ साथ किस तरह मरीजों की देखरेख कर रही हैं तो उन्होंने कहा कि मैं नर्स की तरह अपनी ड्यूटी कर रही हूं। मेरे लिए लोगों की सेवा ही सबसे बड़ी इबादत है।

नैंसी की तारीफ़ इसलिए भी हो रही है क्यों कि उनका व्यवहार सभी मरीज़ो के साथ बेहद अच्छा रहा है और वे समय की पाबंदी का ख्याल रखती हैं। रमजान के महीने में रोज़ा रखने के बावजूद दिनभर बिना खाये -पीये वे अपनी ड्यूटी को पूरी ज़िम्मेदारी से कर रही हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ये भी पढ़ें:  राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी अजीत सिंह का निधन
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें