चुनाव बड़ी खबर

5 राज्यों में मतदान संपन्न, ममता बोलीं, “गुजरात के लोग बंगाल में शासन करने की न सोचें”

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल और असम में आज तीसरे चरण के चुनाव के लिए मतदान संपन्न हुआ वहीँ तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में भी आज विधानसभा चुनाव के लिए मतदान का काम पूरा हो गया है। अब सिर्फ पश्चिम बंगाल में पांच चरणों का चुनाव और बाकी है।

चुनाव आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक शाम साढ़े छह बजे तक असम में 79.52 फीसदी, केरल में 69.95 फीसदी, पुडुचेरी में 78.03 फीसदी, तमिलनाडु में 65.11 फीसदी और बंगाल में 77.68 फीसदी मतदान हुआ है।

मतदान के दौरान पश्चिम बंगाल में हुई छिटपुट घटनाओं को छोड़कर चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न हो गया है। पश्चिम बंगाल के मीरपारा गौरहटी इलाके में मतदान के दौरान तृणमूल कांग्रेस पार्टी की उम्मीदवार सुजाता मंडल की कार पर पथराव की घटना सामने आई है।

इस मामले में टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने चुनाव आयोग से शिकायत करते हुए कहा कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अरंडी-I बूथ नं 263 महालापारा में टीएमसी उम्मीदवार सुजाता मंडल पर हमला किया। इस हमले में उसके निजी सुरक्षा अधिकारी के सिर पर चोटें आई हैं। उनकी हालत गंभीर है।

ये भी पढ़ें:  पीएम मोदी के सवाल का टीएमसी ने दिया जबाव, "नंदीग्राम से जीत रहीं दीदी"

वहीँ डायमंड हार्बर के एक पोलिंग बूथ पर कुछ लोगों ने शिकायत की कि उन्हें तृणमूल कांग्रेस पार्टी (टीएमसी) के कार्यकर्ताओं ने वोट नहीं डालने दिया। हालांकि इस बूथ पर मतदान अधिकारी ने ऐसी किसी घटना से इंकार किया।

इस बीच आज तृणमूल सुप्रीमो ने कहा, “मैं गुजरातियों को बंगाल में शासन करने की अनुमति नहीं दूंगी क्योंकि बंगाल पर शासन बंगाली करेगा न कि कोई गुजराती।”

एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि बीजेपी दूसरे राज्यों से गुंडे मंगवा कर यहां हमले करा रही है। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार सुजाता मंडल का पीछा किया गया और भगवा दल के कार्यकर्ताओं ने मतदान केन्द्र के निकट उनके सिर पर हमला किया।

वहीँ ममता बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘हमारी ओर से मुद्दे को लगातार उठाये जाने के बावजूद यहां केंद्रीय बलों का जबरदस्त दुरुपयोग जारी है और निर्वाचन आयोग मूकदर्शक बना हुआ है। कई स्थानों पर इन बलों का दुरुपयोग तृणमूल कांग्रेस के मतदाताओं को भयभीत करने एवं अन्य लोगों को एक पार्टी के पक्ष में प्रभावित करने के लिए किया जा रहा है।’

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें