देश बड़ी खबर

असम में बंद होंगे मदरसे, ताला लटकाने के लिए नवंबर जारी होगा नोटिफिकेशन

गुवाहाटी। असम में राज्य सरकार की नज़र अब राज्य के मदरसों और संस्कृत स्कूलों पर लगी है। राज्य सरकार ने सभी मदरसों को बंद करने के अलावा करीब 100 संस्कृत स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया है।

असम सरकार के शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा है कि नवंबर में सभी राज्य संचालित मदरसों को बंद करने के बारे में एक अधिसूचना जारी की जाएगी। इसके अलावा राज्य के क़रीब 100 संस्कृत स्कूल भी बंद किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि सभी राज्य संचालित मदरसों को नियमित स्कूलों में बदला जाएगा या कुछ मामलों में शिक्षकों को राज्य संचालित स्कूलों में स्थानांतरित कर दिया जाएगा और मदरसों को बंद कर दिया जाएगा। एक न्यूज़ एजेंसी से बात करते हुए उन्होंने कहा कि नवंबर में इसके लिए नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा।

हेमंत बिस्वा ने कहा कि मेरी राय में, कुरान का शिक्षण सरकारी धन की कीमत पर नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि अगर हमें ऐसा करना है तो हमें बाइबल और भगवद गीता दोनों को भी सिखाना चाहिए। इसलिए हम एकरूपता लाना चाहते हैं और इस प्रथा को रोकना चाहते हैं।

गौरतलब है कि असम में 614 मान्यता प्राप्त मदरसे हैं। इनमे इनमें से 400 उच्च शिक्षा वाले बड़े मदरसे हैं, 112 जूनियर स्तर के मदरसे हैं और शेष 102 मध्यम स्तर मदरसे हैं। कुल मान्यता प्राप्त मदरसों में से 57 लड़कियों के लिए हैं और 3 लड़कों के लिए हैं और 554 दोनों के लिए हैं। सत्रह मदरसे उर्दू माध्यम में चल रहे हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें