दुनिया बड़ी खबर

ईरान ने जारी किया अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की गिरफ्तारी का वारंट, इंटरपोल से भी मांगी मदद

नई दिल्ली। संभवतः यह इतिहास में पहली बार हुआ है कि किसी अमेरिकी राष्ट्रपति की गिरफ्तारी के लिए किसी दूसरे देश की तरफ से वारंट जारी किया गया है। ईरान ने ईराक में तैनात अपने शीर्ष जनरल कासिम की ड्रोन से हमले में हुई ह्त्या के मामले में 56 व्यक्तियों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। इनमे सबसे पहला नाम अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का है।

न्यूज़ एजेंसी इरना के मुताबिक़, तेहरान के सॉलिसिटर जनरल अली अलक़ासी मेहर ने सोमवार को न्यायपालिका की उच्च परिषद की बैठक में जनरल क़ासिम सुलैमानी की हत्या के केस के सिलसिले में बताया गया कि अमेरिका के राजनेता और सैन्य अधिकारियों तथा दूसरी सरकारों के अधिकारियों सहित जो लोग जनरल क़ासिम सुलैमानी की हत्या का आदेश देने सहित इस मामले में किसी न किसी तरह शामिल थे, उनकी पहचान कर ली गयी है।

इस मामले में आरोपी लोगों के खिलाफ अदालत ने उनकी गिरफ़्तारी का वॉरेंट जारी और इंटरपोल के ज़रिए उनके ख़िलाफ़ रेड कॉर्नर नोटिस जारी होने का आदेश दिया है।

तेहरान के सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि इन लोगों पर हत्या और आतंकवादी कृत्य का इल्ज़ाम है और इस लिस्ट में अमरीकी राष्ट्रपति का नाम सबसे ऊपर है यहाँ तक कि उनके राष्ट्रपति काल के ख़त्म होने के बाद भी उनके ख़िलाफ़ न्यायिक कार्यवाही की जाएगी।

हालांकि यह कहा जा रहा है कि जनरल कासिम सुलैमानी की हत्या के मामले में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को आरोपी बनाये जाने के बाद इंटरपोल ईरान की कोई मदद नहीं करेगा। हालांकि यह मुद्दा अमेरिका में इस वर्ष नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव में अवश्य शामिल हो सकता है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें