दुनिया बड़ी खबर

नेपाल के बाद बांग्लादेश पर है चीन की नज़र. खोला रियायतों का पिटारा

नई दिल्ली। चीन की नज़र नेपाल के बाद अब बांग्लादेश पर टिकी है। चीन पहले ही पाकिस्तान और नेपाल के साथ मिल चूका है और अब उसकी कोशिश बांग्लादेश को अपने साथ मिलाने की है।

यही कारण है कि चीन ने बांग्लादेश के लिए रियायतों का पिटारा खोल दिया है। चीन ने बांग्लादेश के लिए 5 हज़ार से अधिक उत्पादों पर 97 प्रतिशत तक टैरिफ़ ख़त्म करने की घोषणा की है।

एक मीडिया रिपोर्ट में चीन के विदेश मंत्रालय के हवाले से कहा गया है कि चीन बांग्लादेश को मत्स्य और चमड़ा समेत 5161 उत्पादों पर चीन टैरिफ़ में 97 प्रतिशत की छूट देगा।

वहीँ बांग्ला देश के विदेशमंत्रालय ने एक बयान जारी करके कहा कि चीनी वित्त मंत्रालय की ओर से 16 जून जून को एक अधिसूचना जारी की गई है जिसमें कहा गया है कि बांग्लादेश के 5161 उत्पादों को 97 प्रतिशत टैरिफ़ फ़्री कर दिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि मई के महीने में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शैख़ हसीना वाजिद ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाक़ात के बाद चीन से अपील की थी कि वह निर्यात किए जाने वाले उत्पादों पर टैक्स की छूट दे। बांग्लादेश विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ सूचना अधिकारी मुहम्मद तौहिदुल इस्लाम ने यह जानकारी दी है।

गौरतलब है कि चीन की शह पर नेपाल ने विवादित नक़्शे को लेकर अपने यहाँ संविधान में संशोधन करके उत्तराखंड के तीन इलाको पर अपना दावा जताया है। वहीँ चीन के साथ भारत के रिश्तो में उस समय और तनाव पैदा हो गया जब लद्दाख में चीनी सैनिको ने अतिक्रमण करने की कोशिश की और भारत-चीन के सैनिको के बीच हुई हिंसक झड़पों में भारत के 20 जवान शहीद हो गए।

माना जा रहा है कि चीन अपना अधिपत्य जमाने के इरादे से पाकिस्तान और नेपाल के बाद अब बांग्लादेश पर अपनी पकड़ बना रहा है। इसी इरादे से चीन ने बांग्लादेश के लिए कई रियायतों का एलान किया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें