देश बड़ी खबर

सरकार की किसानो से हुई बातचीत, बैठक के बाद किसानो ने कहा “आंदोलन जारी रहेगा”

नई दिल्ली। कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानो के प्रतिनिधियों और सरकार के बीच आज एक बार फिर बातचीत हुई। इसी क्रम में अगली बैठक 3 दिसंबर को होगी। आज हुई बैठक को लेकर सरकार और किसान यूनियनों के प्रतिनिधियों ने बातचीत को सकारात्मक बताया। हालांकि किसानो ने अभी आंदोलन जारी रखने का एलान किया है।

दिल्ली में केंद्रीय कृषि मंत्री से मुलाकात के बाद किसान प्रतिनिधिमंडल के सदस्य चंदा सिंह ने कहा कि हमारा आंदोलन जारी रहेगा। सरकार से कुछ लेकर जाएंगे। सरकार अगर शांति चाहती है तो लोगों का मुद्दा हल करे। हम मुलाकात के लिए परसों फिर आएंगे।

वहीं केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि आज किसान यूनियन के नेता आए थे, भारत सरकार ने तीसरे चरण की वार्ता आज पूरी की है। हम सब ने निर्णय लिया है कि परसों वार्ता का चौथा चरण शुरू होगा।

उन्होंने कहा कि परसों तक ये लोग भी अपने मुद्दे लेकर आएंगे और सभी बिन्दुओं पर चर्चा की जाएगी। हम चाहते थे कि छोटा ग्रुप बने, लेकिन सभी किसान यूनियनों का कहना था कि सभी मिलकर बात करेंगे। सरकार को सभी से बात करने में भी परेशानी नहीं है।

ये भी पढ़ें:  शुक्रवार को फिर होंगी किसानो और सरकार के बीच वार्ता, कृषि कानून और MSP पर अटकी है बात

कृषि मंत्री ने कहा कि हम किसान भाइयों से आग्रह करते हैं कि आंदोलन स्थगित करें और वार्ता के लिए आएं परन्तु ये फैसला करना किसान यूनियन और किसानों पर निर्भर है।

कृषि कानून किसानो के हित में: जनरल वीके सिंह

केंद्रीय मंत्री जनरल वी.के. सिंह ने किसानो के आंदोलन को लेकर कहा कि जो चीज किसान के हित में है, वह की गई है। स्वामीनाथन आयोग में मांग की गई थी कि किसान के पास अपनी फसल बेचने की स्वतंत्रता होनी चाहिए वह किसी चीज से बंधा न रहे। सरकार ने यह कर दिया। उन्होंने कृषि कानूनों को सही करार देते हुए कहा कि किसान को परेशानी नहीं हो रही, बाकी लोगों को हो रही है। विपक्ष के साथ उन लोगों का हाथ है जो कमीशन खाते हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें