दुनिया बड़ी खबर

ट्रंप को झटका, पहली ऑफिशियल डिबेट के बाद बाइडेन से पिछड़े

वाशिंगटन। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए हुई पहली ऑफिशियल डिबेट में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के रुख से अमेरिका के लोग खासे नाराज़ हैं। इस नाराज़गी की अहम वजह ट्रंप द्वारा उठाये गए अनावश्यक मुद्दे और बाइडेन के भाषण के दौरान बीच में बोलना है।

नतीजतन ट्रंप के बीच में बोलने की कोशिशों पर बाइडेन ने कड़ा एतराज जताते हुए कहा कि “क्या आप चुप रहेंगे।” साथ ही बाइडेन ने यह भी कहा कि ट्रंप अब तक वह जो कुछ भी कह रहे हैं, वह केवल एक झूठ है। मैं यहां उनके झूठ को सामने लाने के लिए नहीं हूं, क्योंकि यहां हर कोई जानता है कि वह एक झूठा है।

इतना ही नहीं बाइडेन ने डिबेट के बाद भी ट्रंप पर अपना हमला जारी रखा। उन्होंने डिबेट के बाद ट्वीट कर कहा कि ट्रंप अमेरिका के अब तक के सबसे खराब राष्ट्रपति साबित हो रहे हैं।

वहीँ ट्रंप के इस रवैये का असर सीबीएस न्‍यूज के ताजा सर्वेक्षण में साफ़ दिख रहा है। सर्वेक्षण में 48 फीसदी लोगों ने कहा कि बाइडेन ने डिबेट में जीत दर्ज की, वहीं 41 प्रतिशत लोगों ने कहा क‍ि डोनाल्‍ड ट्रंप बहस में आगे रहे।

सीबीएस के सर्वे में लोगों ने कहा है कि प्रेसिडेंशियल डिबेट देखने के बाद उन्हें बुरा लगा है। अच्‍छा या खराब महसूस करने के सवाल पर 69 प्रतिशत लोगों ने इसे लेकर नाराजगी जाहिर की है।

सर्वेक्षण में लोगों ने कहा कि ट्रंप द्वारा गैर ज़रूरी मुद्दे उठाये जाने से उनका नुकसान हो रहा है। कोरोना संक्रमण के दौरान ट्रंप के ऊलजलूल बयानों से उनकी पहले ही किरकिरी हो चुकी है।

डिबेट के दौरान ट्रंप ने बिडेन के मास्क पहनने को लेकर भी गैर ज़रूरी बयान दिया। इस बयान की काफी आलोचना हो रही है। ट्रंप ने कहा कि चुनावी सभाओं और सार्वजनिक कार्यक्रमों में बाइडेन 200 फ़ीट की दूरी पर रहते हैं तो भी बड़ा सा मास्क पहनकर आ जाते हैं। इस पर ट्रंप के मास्क न पहनने और बड़ी-बड़ी रैलियां करने से संबंधित सवाल भी सामने आया।

मॉडरेटर वॉलेस ने पूछा- प्रेसिडेंट आप मास्क क्यों नहीं लगाते. जबकि आपके हेल्थ अफसर भी यही सलाह देते हैं। इस पर ट्रंप ने कहा- ऐसा नहीं है कि मैं मास्क नहीं लगाता, जब जरूरत होती है तो जरूर लगाता हूं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें