देश बड़ी खबर

अधीर रंजन चौधरी ने पश्चिम बंगाल में वामदलों से गठबंधन के संकेत दिए

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नव नियुक्त अध्यक्ष और लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सुशांत सिंह राजपूत मामले में बीजेपी पर निशाना साधा है।

कोलकाता में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए अधीर रंजन चौधरी ने बीजेपी पर सुशांत सिंह राजपूत केस में राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि “समुद्र मंथन किया और अमृत निकालने के बदले ड्रग निकाला है और जेल की सलाखों के पीछे रिया चक्रवर्ती को धकेला है और बिहार में ढिंढोरा पीटा जा रहा है कि देखो बिहारी भाई हमने रिया को हिरास्त में लिया है और बिहार वासियों को न्याय दिला दिया है।”

उन्होंने कहा कि “भाजपा बिना रोकथाम श्रेय लेने के लिए मैदान में उतरी है और कह रही है कि देखो भाजपा ही एकमात्र पार्टी है जो बिहारी लोगों को न्याय दिला सकती है।”

इससे पहले अधीर रंजन चौधरी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को नई जिम्मेदारी के लिए धन्यवाद दिया और कहा कि वे पश्चिम बंगाल में कांग्रेस को पुनर्जीवित करने की पूरी कोशिश करेंगे। कांग्रेस छोड़कर आए सभी नेताओं ने कार्यकर्ताओं से कांग्रेस में वापस आने और पार्टी को मजबूत बनाने का आह्वान किया।

अधीर रंजन चौधरी ने प्रदेश अध्यक्ष का पदभार संभालते हुए अपने इरादे जता दिए हैं। उन्होंने संकेत दिए कि अगले साल बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस वामपंथी दलों से गठबंधन करेगी।

अधीर रंजन चौधरी ने सांसद प्रदीप भट्टाचार्य, नेता प्रतिपक्ष अब्दुल मन्नान, मुख्य सचेतक मनोज चक्रवर्ती, विधायक नेपाल महतो और कांग्रेस नेता रिजु घोषाल को वाम दलों के साथ बातचीत करने का काम सौंपा है। अब्दुल मन्नान, विधायक मनोज चक्रवर्ती, असित मित्रा और अन्य नेता प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद थे।

इससे पहले कल कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अधीर रंजन चौधरी को पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद की कमान सौंपी थी। पश्चिम बंगाल में प्रदेश अध्यक्ष सोमेन मित्रा के निधन के बाद ये पद खाली हो गया था।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें