पड़ताल बड़ी खबर

ठगी की कोशिश: कोरोना की आड़ में स्टेचू ऑफ यूनिटी बेचने के लिए दे दिया OLX पर विज्ञापन

नई दिल्ली। देश में कोरोना महामारी से निपटने के लिए जहाँ देश के लोग प्रधानमंत्री राहत कोष में दान दे रहे हैं वहीँ एक शख्स ने कोरोना महामारी की आड़ में स्टेचू ऑफ यूनिटी को बेचने के लिए ऑनलाइन विज्ञापन दे दिया।

हालाँकि यह व्यक्ति अपने मंसूबो में सफल नहीं हो सका और इस विज्ञापन की खबर एक समाचार पत्र में प्रकाशित होने के बाद पुलिस हरकत में आ गई और पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के नाम मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीँ वेब साइट से विज्ञापन हटा दिया गया है।

पूरा मामला गुजरात से जुड़ा है। जहाँ एक व्यक्ति ने कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए देश में हॉस्पिटल निर्माण, दवा वितरण और मरीजों के इलाज के लिए पैसा जुटाने का हवाला देकर करोडो रुपये की लागत से बनी 182 मीटर ऊंची सरदार बल्ल्भ भाई पटेल की स्टेचू ऑफ यूनिटी को बेचने के लिए ऑनलाइन विज्ञापन दिया।

ऑनलाइन क्लासिफाइड साइट OLX पर दिए गए विज्ञापन में स्टेचू ऑफ लिबर्टी को बेचने की इच्छा जताते हुए उक्त शख्स ने 30000 करोड़ रुपये कीमत बताई। विज्ञापन में कहा गया कि देश में कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए हॉस्पिटल निर्माण, दवाइयां और स्वास्थ्य उपकरण ख़रीदे जाने के लिए वह स्टेचू ऑफ यूनिटी को बेच रहा है।

ये भी पढ़ें:  सिब्बल का संघ प्रमुख पर पलटवार, पूछा '370 हटने के बाद कश्मीर में कौन सा विकास हुआ'

हालाँकि यह मामला जल्द ही प्रकाश में आ गया और शनिवार को दिए गए इस विज्ञापन की खबर एक समाचार पर में प्रकाशित होने के बाद पुलिस ने इस मामले में olx वेब साइट को भी अवगत कराया गया। जिसके बाद वेब साइट से यह विज्ञापन हटा दिया गया।

इस बारे में मुख्य प्रशासक के आदेश के बाद तहसीलदार पार्थ जायसवाल ने केवड़िया पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत दर्ज करने के बाद पुलिस ने मामले की तफ्तीश कर रही है। इस बीच, पुलिस इस मामले में कई पहलुओं पर जांच कर रही है। जांच के बाद में ही इस मामले में कोई खुलासा हो पाएगा।

गौरतलब है कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब नर्मदा जिले मे सरदार सरोवर बांध के पास केवड़िया में सरदार पटेल की विश्व में सबसे ऊंची प्रतिमा प्रस्थापित करने का निर्णय किया गया था। यह विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें