अपराध बड़ी खबर

26 जनवरी को हुई हिंसा मामले में आरोपी दीप सिद्धू गिरफ्तार

नई दिल्ली। 26 जनवरी को किसान संगठनों के आह्वान पर निकाली गई किसान ट्रेक्टर परेड के दौरान हिंसा तथा लाल किले पर धार्मिक ध्वज फहराने की घटना में आरोपी दीप सिद्धू को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने दीप सिद्धू की गिरफ्तारी पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया था।

दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी के मुताबिक दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम ने 26 जनवरी को लाल किले और दिल्ली के अन्य जगहों में हिंसा फैलाने वाले मुख्य आरोपी दीप सिद्धू को गिरफ्तार किया है। उनकी तस्वीरें पब्लिक डोमेन में हैं। हमने इसकी गिरफ्तारी पर 1 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। आगे की जांच जारी है।

गौरतलब है कि 26 जनवरी को लाल किले पर धार्मिक झंडा फहराने की घटना के वायरल वीडियो में दीप सिद्धू अपने कुछ साथियों के साथ नारे लगवाता नज़र आया था। इतना ही नहीं इस घटना के बाद कुछ तस्वीरें भी वायरल हुई थीं।

इन तस्वीरों में दीप सिद्धू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह तथा बीजेपी सांसद सनी देओल के साथ नज़र आ रहा है। वायरल तस्वीरों से साबित होता है कि कभी सनी देओल के चुनाव में अहम भूमिका निभाने वाले दीप सिद्धू की पहुंच बीजेपी नेताओं तक रही होगी।

ये भी पढ़ें:  बीजेपी उम्मीदवार की कार में EVM मिलने पर चुनाव आयोग के स्पष्टीकरण से संतुष्ट नहीं कांग्रेस

वीडियो वायरल होने के बाद दीप सिद्धू भूमिगत हो गया था और पुलिस द्वारा एफआईआई दर्ज किये जाने के बाद से वह अपने घर से फरार था। इस बीच पुलिस ने दीप सिद्धू की गिरफ्तारी पर एक लाख रुपये के इनाम की घोषणा भी की थी।

फिलहाल दीप सिद्धू को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने दीप सिद्धू को चंडीगढ़ और अंबाला के बीच जीरकपुर इलाके से गिरफ़्तार किया।

दीप सिद्धू की गिरफ्तारी पर किसान नेता जगतार सिंह बाजवा ने सिंघु बॉर्डर पर कहा कि दीप सिद्धू को वहां तक पहुंचाने में किन लोगों ने उसकी मदद की इसकी जांच होनी चाहिए और उनपर भी कार्रवाई होनी चाहिए। हमें इसमें एक षड़यंत्र लगता है। दीप सिद्धू को वहां पहुंचाने में सरकार के भी कुछ लोग शामिल थे इसकी जांच होनी चाहिए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें