देश बड़ी खबर

महाराष्ट्र: बीजेपी ने सरकार बनाने से किया इंकार, अब शिवसेना को करना है तय

मुंबई। महाराष्ट्र में बीजेपी ने सरकार बनाने से अपने कदम पीछे खींच लिए हैं। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बीजेपी को राज्य में सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते सरकार बनाने का न्यौता दिया था।

इससे पहले आज मुंबई में बीजेपी विधायकों की बैठक हुई। बैठक के बाद महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि हम सरकार नहीं बनाएंगे। उन्होंने साफ़ किया कि जनादेश भाजपा-शिवसेना को साथ काम करने के लिए दिया गया था। अगर शिवसेना इसका सम्मान नहीं करना चाहती और कांग्रेस-एनसीपी के साथ सरकार बनाना चाहती है तो हमारी शुभकामनाएं उनके साथ हैं।

वहीँ राज्यपाल द्वारा बीजेपी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किये जाने पर शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि भाजपा बहुमत जुटाने में नाकाम रहती है तो शिवसेना अपने प्लान पर अमल करेगी।

चंद्रकांत पाटिल ने कहा, राज्यपाल ने नई सरकार के गठन के लिए भाजपा को न्योता दिया। शिवसेना ने जनादेश का निरादर करते हुए अनिच्छा जाहिर की। हमने राज्यपाल को बता दिया है कि हम सरकार नहीं बनाएंगे। शिवेसना ने जनादेश का अपमान करके अगर कांग्रेस और राकांपा के साथ सरकार बनानी है तो हमारी शुभकामनाएं।

महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर मामला फंसने के बाद भी स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है। राज्य में राजनैतिक स्थिति उलझ गयी है। किसी भी पार्टी के पास इतनी सीटें नहीं हैं कि वह अकेले दम पर सरकार बना ले।

जहाँ बीजेपी ने अकेले सरकार बनाने से इंकार कर दिया है वहीँ शिवसेना अकेले सरकार बनाने में सक्षम नहीं है और उसे बहुमत जुटाने के लिए एनसीपी और कांग्रेस के समर्थन की आवश्यकता होगी।

हॉर्स ट्रेडिंग की आंशका के चलते कांग्रेस ने अपने विधायकों को जयपुर शिफ्ट कर दिया है। शिवसेना के विधायक पहले ही बांद्रा के एक होटल में रुके हैं। ऐसे में देखना है कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए एनसीपी और कांग्रेस शिवसेना को समर्थन देने हैं अथवा नहीं।

हालाँकि एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार शिवसेना के साथ सरकार बनाने की किसी भी संभावना से इंकार कर चुके हैं। बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में शरद पवार ने साफ़ तौर पर कहा था कि एनसीपी को विपक्ष में बैठने के लिए जनादेश मिला है और उनकी पार्टी कांग्रेस के साथ मिलकर रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभाएंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें