चुनाव दिल्ली बड़ी खबर राज्य

नीतीश ने बीजेपी को दिया एक और झटका, दिल्ली की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी जेडीयू

नई दिल्ली। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जनता दल यूनाइटेड द्वारा हाल ही में लिए गए कुछ फैसलों से साफ़ पता चलता है कि एनडीए में फूट पड़ चुकी है और नीतीश कुमार धीमे धीमे बीजेपी से दूरी बना रहे हैं।

अभी हाल ही में नीतीश सरकार द्वारा पटना की बैली रोड का नाम बदलकर नेहरू पथ रखकर बीजेपी को बड़ा गच्चा देने के बाद अब नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड ने बीजेपी को एक और बड़ा झटका दिया है।

जनता दल यूनाइटेड ने एलान किया है कि वह 2020 में दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनाव में राज्य की सभी 70 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेगी। इससे पहले जनता दल यूनाइटेड झारखंड में भी अपने उम्मीदवार उतारने का एलान कर चुकी है।

जेडीयू की दिल्ली प्रदेश इकाई के पुनर्गठन को पार्टी अध्यक्ष और बिहार के सीएम नीतीश कुमार की मंजूरी मिलने के बाद पार्टी ने दिल्ली में चुनावी तैयारियां शुरु कर दी है।

जेडीयू प्रवक्ता सत्य प्रकाश मिश्रा ने शनिवार को कहा, “हाल ही में प्रदेश संगठन के चुनाव में वरिष्ठ नेता दयानंद राय को दिल्ली का प्रदेश अध्यक्ष चुना गया। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बड़ी संख्या में बिहार और यूपी के लोग रहते हैं, जिन्हें शुरु से ही कई दलों ने ठगने का काम किया है।

गौरतलब है कि अभी हाल ही में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई केबिनेट की बैठक में पटना की बेली रोड का नाम बदलकर नेहरु पथ करने के फैसले पर मुहर लगा दी गयी है। पहले इसका नाम जवाहर लालनेहरू मार्ग किया गया था, लेकिन आम लोगोंको बोलने में सहजता को लेकर इसे छोटा किया गया।

बेली रोड का नाम पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू के नाम पर रखने के नीतीश सरकार के इस फैसले को बीजेपी के लिए बड़ा झटका बताया जा रहा है। बीजेपी और आरएसएस कश्मीर जैसे बड़े मुद्दों पर भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का नाम लेकर कांग्रेस पर हमले बोलते रहे हैं। यहाँ तक कि अभी हाल ही में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि कश्मीर समस्या के लिए पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू ज़िम्मेदार हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें