दिल्ली बड़ी खबर राज्य

केजरीवाल पर गुस्साए आम आदमी सेना के कार्यकर्ता ने फेंका जूता

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को एक बार फिर हिंसक विरोध का सामना करना पड़ा। सम विषम नंबर नियम की कार्ययोजना का खुलासा करने के लिए शनिवार को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में एक युवक ने केजरीवाल पर घोटाले का आरोप लगाते हुए जूता फेंक कर अपने गुस्से का इजहार किया।

Arvindkejriwal

नई दिल्ली । मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को एक बार फिर हिंसक विरोध का सामना करना पड़ा। सम विषम नंबर नियम की कार्ययोजना का खुलासा करने के लिए शनिवार को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में एक युवक ने केजरीवाल पर घोटाले का आरोप लगाते हुए जूता फेंक कर अपने गुस्से का इजहार किया।

हालांकि जूता केजरीवाल को नहीं लगा लेकिन इससे उपजे हंगामे के कारण संवाददाता सम्मेलन कुछ देर के लिए बाधित जरूर रहा। घटना के तुरंत बाद मुख्यमंत्री के सुरक्षाकर्मियों ने हमलावर युवक को कॉंफ्रेंस रूम से बाहर कर पुलिस को सौंप दिया। पुलिस हिरासत में लिए गए युवक की पहचान वेद प्रकाश के रूप में हुई है। बताया जाता है कि वह आम आदमी सेना का कार्यकर्ता भी है। यह वही संगठन है जो आम आदमी पार्टी के गठन के विरोध में खड़ा किया गया था।

केजरीवाल पर जूता फेंकने से पहले युवक ने संवाददाता सम्मेलन शुरू होते ही मुख्यमंत्री पर नंबर नियम योजना में छूट प्राप्त सीएनजी वाहनों के स्टीकर एक एक हजार रुपये में बेचने का आरोप लगाया। उसने दो दिन पहले किए गए एक स्टिंग ऑपरेशन की सीडी हाथ में लहराते हुए केजरीवाल से कहा कि इसमें सरकार के इशारे पर सीएनजी स्टेशनों पर बेचे जा रहे स्टीकरों का कच्चा चिट्ठा दर्ज है।

इसे करोड़ों रुपये का घोटाला बताते हुए युवक ने जूता उतार कर सीडी के साथ सीएम की तरफ उठाल दिया। जूता फेंकने के बाद भी कुछ मिनट तक वह मुख्यमंत्री से इस कथित घोटाले का विरोध जताता रहा। इसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने उसे दबोच लिया।

वहीं संवाददाता सम्मेलन में मौजूद मंत्रियों के निजी सचिवों ने युवक को थप्पड़ भी जड़ दिए। जल मंत्री कपिल मिश्रा ने इस घटना पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री की सुरक्षा बढ़ाए जाने की केन्द्र सरकार से मांग की। विपक्षी दल भाजपा और कांग्रेस ने भी इस घटना की निंदा की है।

भाजपा नेता आरपी सिंह और कांग्रेस नेता हारुन यूसुफ ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा है कि केजरीवाल को अपनी कार्यशैली का पुन: विश्लेषण करना चाहिए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *