चुनाव बड़ी खबर

ईवीएम को लेकर चुनाव आयोग से आरपार की लड़ाई की तैयारी, राज ठाकरे ने शुरू की पहल

नई दिल्ली। इस वर्ष देश में कई अहम राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। जिन राज्यों में इस वर्ष चुनाव कराये जाने हैं उनमे महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड शामिल हैं। तीनो ही राज्यों में बीजेपी की सरकार है।

2014 के लोकसभा चुनाव के बाद से विपक्ष लगातार ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से चुनाव कराये जाने की मांग करता रहा है लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद ईवीएम को लेकर विपक्ष की शंका और गहरी हो चुकी है।

लोकसभा चुनाव के बाद अलग थलग पड़ चूका विपक्ष भले ही अन्य मुद्दों पर एकजुट न हो लेकर ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से चुनाव कराये जाने की मांग को लेकर एक साथ खड़ा होने को तैयार है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तो ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से चुनाव कराये जाने की मांग को लेकर आंदोलन छेड़ने का एलान तक कर चुकी हैं।

जैसे जैसे विधानसभा चुनाव का समय करीब आता जा रहा है वैसे वैसे कांग्रेस और क्षेत्रीय दलों के बीच ईवीएम को लेकर चर्चाएं भी तेज हो गयी हैं। महाराष्ट्र नव निर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे ने सोमवार को यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से मुलाकात की।

हालाँकि यह मुलाकात महाराष्ट्र में होने जा रहे विधानसभा चुनावो को लेकर थी लेकिन सूत्रों की माने तो करीब 40 मिनट तक चली इस मुलाकात में राज ठाकरे ने कई बार ईवीएम का मुद्दा उठाया।

राज ठाकरे ने ईवीएम को लेकर शंका ज़ाहिर करते हुए कहा कि ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से चुनाव कराये जाने की मांग अभी से उठानी चाहिए और यदि चुनाव आयोग बैलेट पेपर से चुनाव कराने के लिए सहमत न हो तो सभी विपक्षी दलों को चुनाव का बहिष्कार करना चाहिए।

सूत्रों ने कहा कि राज ठाकरे ने सोनिया गांधी से कहा कि ईवीएम के खिलाफ मुहिम शुरू करने के लिए कांग्रेस नेतृत्व करे और मनसे इसमें पूरा सहयोग देगी।

सूत्रों के मुताबिक राज ठाकरे ने सोनिया गांधी से कहा कि ईवीएम को लेकर सिर्फ कागजी लड़ाई काफी नहीं है इसके लिए सड़को पर उतर कर लड़ाई लड़नी होगी और ज़रूरी लगे तो चुनावो का बहिष्कार भी करना होगा। सूत्रों ने कहा कि राज ठाकरे के प्रस्ताव पर यूपीए चेयर पर्सन सोनिया गांधी ने पार्टी नेताओं के साथ विचार विमर्श करने का आश्वासन दिया है।

गौरतलब है कि यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से मुलाकात करने से पहले महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर महाराष्ट्र विधानसभा का चुनाव ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से कराने की मांग कर चुके हैं।

राज ठाकरे ने अपने पत्र में कहा है कि ईवीएम को लेकर कई सवाल खड़े किए जा रहे है। ऐसे में चुनाव प्रणाली में फिर से विश्वास के लिए चुनाव ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से कराए जाएं।

ठाकरे ने पत्र में लिखा कि पिछले कुछ साल में देश में अपनाई गई चुनाव प्रक्रिया और ईवीएम के इस्तेमाल पर कई लोग असंतुष्टि जाहिर कर चुके हैं। इसलिए मैं चुनाव आयोग से अपील करता हूं कि दोबारा बेलेट पेपर से चुनाव कराने की प्रक्रिया शुरु की जाए, साथ ही महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव इस बार बेलेट पेपर के जरिये ही करवाएं जाएं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
Support us to keep Lokbharat Live, Give a small Contribution of Rs.100 to Support Fearless & Fair Journalism
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें