RTI एक्टिविस्ट की हत्या में कोर्ट का फैसला: पूर्व बीजेपी सांसद सहित 7 को उम्र कैद

अहमदाबाद। RTI एक्टिविस्ट अमित जेठवा की हत्या मामले में आज अहमदाबाद की सीबीआई अदालत ने पूर्व बीजेपी सांसद दीनू सोलंकी सहित सात लोगों को उम्र कैद की सजा सुनाई है। गौरतलब है कि 20 जुलाई 2010 को आरटीआई एक्टिविस्ट अमित जेठवा की हाईकोर्ट के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

इससे पहले शनिवार को सीबीआई की एक विशेष अदालत ने भाजपा के पूर्व सांसद दीनू सोलंकी सहित सात लोगों को दोषी करार दिया था। इस मामले में क्राइम ब्रांच द्वारा पूर्व बीजेपी सांसद दीनू सोलंकी को क्लीन चिट दे दी गयी थी। उसके बाद यह मामला सीबीआई को सौंपा गया था। दीनू भाई सोलंकी वर्ष 2009 से 2014 तक गुजरात के जूनागढ़ से बीजेपी सांसद रहे हैं।

आरटीआई एक्टिविस्ट अमित जेठवा ने आरटीआई के जरिए दीनू सोलंकी की कथित संलिप्तता वाली अवैध खनन गतिविधियों को उजागर करने की कोशिश की थी। जेठवा की 20 जुलाई 2010 को हत्या कर दी गयी थी।

सीबीआई ने दीनू सोलंकी को उनके चचेरे भाई शिव सोलंकी और पांच अन्य के साथ भारतीय दंड संहिता के तहत हत्या और आपराधिक साजिश रचने के आरोपों का दोषी माना।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें