बड़ी खबर

5 मुस्लिम युवको पर लगे थे देशद्रोह के आरोप, नहीं मिले सबूत, पुलिस को वापस लेना पड़ा केस

भोपाल। मध्य प्रदेश के खांडवा में विवादित पोस्टर लगाने का आरोप लगाकर पुलिस ने पांच मुस्लिम युवको पर देशद्रोह का केस रजिस्टर किया था लेकिन पुलिस इस मामले में सबूत नहीं जूटा सकी और अंततः उसे यह मामला वापस लेना पड़ा है।

बता दें कि रविवार को 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया गया था, जिसमे पांच नाबालिग भी शामिल थे। इन सभी पर आरोप था कि इद मिलाद उन नबी के मौके पर खांडवा में कथित रूप से कुछ पोस्टर लगाए थे।

इस पोस्टर में लिखा था कि हमारे आजम को हमारे गद्दार जान जाएंगे, अगर इतिहास पड़ लेंगे तो पहचान पाएंगे, ये हिंदुस्तान मेरे ख्वाजा का था और रहेगा, गलतफहमी में मत रहना कि राम राज्य लाएंगे।

इस मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों के खिलाफ सेक्शन 124 ए के तहत यानि देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था, जबकि अन्य के खिलाफ सेक्शन 153 ए, 505-2 सेक्शन 34 के तहत मामला दर्ज कराया गया था। जिन 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था उसमे पंकज सोनी भी शामिल हैं जोकि ग्राफिक दुकान के मालिक हैं, उनके यहां ये पोस्टर छापे गए थे।

इस मामले में पुलिस ने 5 नाबालिगों और ग्राफिक मालिक को ज़मानत पर रिहा कर दिया गया था। वहीँ बाकी 5 आरोपियों को मंगलवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था।

पुलिस के अनुसार इस मामले में साक्ष्य न मिलने के कारण पुलिस ने देशद्रोह का मामला वापस ले लिया है। अभी पुलिस यह पता नहीं लगा सकी है कि विवादित पोस्टर लगाने के पीछे कौन था। असली षड्यंत्रकारी तक पहुँचने के लिए इस मामले में अभी जांच की जा रही है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Facebook

Copyright © 2017 Lokbharat.in, Managed by Live Media Network

To Top