5 महीने बाद भी पुलिस को नही मालुम “नजीब कहाँ है”, हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को फटकारा

नई दिल्ली । जेएनयू से लापता छात्र नजीब अहमद की गुमशुदगी मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस सिर्फ पेपर वर्क पर ध्यान दे रही है और जनता का पैसा बर्बाद कर रही है लेकिन हमें इस मामले में जल्द से जल्द से नतीजे की दरकार है।

कोर्ट ने गुमशुदा नजीब अहमद की तलाश में दिल्ली पुलिस की कार्यवाही पर असंतोष व्यक्त करते हुए कहा कि पुलिस सिर्फ पेपर वर्क पर ध्यान दे रही है। कोर्ट ने पुलिस से पूछा कि इस मामले में क्या प्रगति हुई और क्या परिणाम आया ?

इतना ही नहीं कोर्ट ने इस मामले में हुई अब तक की प्रगति पर असंतुष्टि ज़ाहिर करते हुए नाराज़गी ज़ाहिर की। इस मामले में अगली सुनवाई दस अप्रेल को होनी है ।

गौरतलब है कि जेएनयू छात्र नजीब अहमद पिछले वर्ष 14 अक्टूबर की रात से लापता है। इस मामले में पहले दिल्ली पुलिस ने विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन कर पांच टीम बनायीं थीं । पुलिस सूत्रों के अनुसार नजीब की तलाश के लिए पुलिस टीमो को अलग अलग जगह भेजा गया था लेकिन कोई सफलता हाथ न लगने के बाद इस मामले को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा को सौंप दिया गया।

इस मामले में पुलिस की कार्यवाही से निराश नजीब के परिजनों ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया । नजीब के परिजनो ने दिल्ली पुलिस पर सही से कोशिश न करने के आरोप लगाया । इस मामले में छात्रों ने कई जगह धरने और प्रदर्शन भी किये लेकिन आज पांच महीनो के बाद भी दिल्ली पुलिस को नही मालूम कि नजीब कहाँ है ?

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें