2019 में राहुल गांधी को पीएम के तौर पर पेश नहीं करेगी कांग्रेस, ये है वजह

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा है कि 2019 के आम चुनाव में कांग्रेस राहुल गांधी को प्रधानमंत्री के तौर पर पेश नहीं करेगी।

एक न्यूज़ चैनल से बातचीत में उन्होंने कहा कि सिर्फ कांग्रेस ही नहीं बल्कि अन्य विपक्षी दल  भी प्रधानमंत्री पद के लिए अपने किसी नेता के नाम का एलान नहीं करेंगे।

चिदंबरम ने कहा कि हम 2019 में विपक्ष के गठबंधन को महत्व देंगे और चुनाव के बाद प्रधानमंत्री पद के लिए नाम का चयन किया जाएगा। इससे सभी विपक्षी दल सहमत हैं।  उन्होंने कहा कि हम एक मजबूत विपक्ष के रूप में बीजेपी का मुकाबला करेंगे।

चिदंबरम ने कहा कि  हमने कभी नहीं कहा कि हम राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाना चाहते हैं। जब कुछ कांग्रेस नेताओं ने इस तरह की बात की थी तब ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी ने इस पर दखल दिया था और उनसे ऐसी बातें नहीं करने को कहा था।

उन्होंने कहा कि यदि सहयोगी दल कहेंगे  राहुल गांधी प्रधानमंत्री पद स्वीकार करने को तैयार हैं लेकिन फिलहाल उनका फोकस बीजेपी को सत्ता से बाहर धकेलने में लगा है।

उन्होंने कहा कि हम बीजेपी को सत्ता से बाहर करना चाहते हैं। हम एक वैकल्पिक सरकार बनाना चाहते हैं जो प्रोग्रेसिव हो, व्यक्ति की आजादी का सम्मान करे, टैक्स टेररिज्म को बढ़ावा न दे, महिलाओं-बच्चों को सुरक्षा दे और किसानों की स्थिति में सुधार करे।

चिदंबरम ने माना कि राष्ट्रीय पार्टियों के वोट बैंक में सेंधमारी करके क्षेत्रीय पार्टियां मजबूत हुई हैं। उन्होंने बीजेपी और मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि  वह क्षेत्रीय पार्टियों को कांग्रेस से हाथ मिलाने से रोकने के लिए भय का माहौल पैदा करने की कोशिश कर रही है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें