2019 चुनाव से पहले बीजेपी की मुसीबत बन सकते हैं रामदेव

मथुरा। 2014 के आम चुनाव में बीजेपी के लिए प्रचार करने वाले बाबा रामदेव का बीजेपी से मोह भंग हो चला है। अभी हाल ही में बाबा रामदेव कई बार मोदी सरकार पर इशारो में निशाना साध चुके हैं। विदेशो से कालधन वापस लाने के मुद्दे पर असफल साबित हुई मोदी सरकार पर बाबा रामदेव आजकल नाराज़ बताये जाते हैं।

अब बाबा रामदेव ने गाय को राष्ट्र माता और गंगा यमुना नदी को राष्ट्रीय धरोहर घोषित किये जाने की मांग उठायी है। बुधवार को मथुरा में यमुना घाट पर हुए एक कार्यक्रम में बाबा रामदेव ने कहा कि सरकार को आगामी लोकसभा चुनाव की तिथियां घोषित होने से पूर्व ही यह जिम्मेदारी निभानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि ऐसा करने से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भरपूर जनसमर्थन मिलेगा। रामदेव ने कहा कि प्रधानमंत्री को चाहिए कि वह गाय को राष्ट्रमाता का दर्जा दिलाएं और गंगा-यमुना को राष्ट्रीय धरोहर घोषित कर उनमें व्याप्त गंदगी को दूर करें।

गौरतलब है कि बाबा रामदेव ने 2014 के चुनाव प्रचार के दौरान दावा किया था कि केंद्र में बीजेपी सरकार बनने के बाद विदेशो से काला धन वापस आएगा। इतना ही नहीं बाबा रामदेव ने बीजेपी सरकार आने पर महंगाई कम होने के दावे करते हुए बीजेपी का गुणगान किया था।

अब मोदी सरकार को केंद्र में साढ़े चार साल से अधिक का समय बीत चूका है। इस दौरान न तो विदेशो से काला धन वापस आया और न ही महंगाई कम हुई। इसके पलट विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी सहित कई बकायेदार बैंको का पैसा लेकर विदेश भाग गए। साथ ही महंगाई कम होने की जगह पेट्रोल डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं।

ऐसी स्थति में बाबा रामदेव को कई जगह विपरीत परिस्थतियों का सामना करना पड़ रहा है। मीडिया के तीखे सवालो से बचने के लिए बाबा रामदेव ने अब नया फॉर्मूला ढूंढ निकाला है। जब भी उनसे काला धन वापस आने और महंगाई कम करने को लेकर सवाल किया जाता है तो वे इस सवाल पर मोदी सरकार पर टाल कर ख़ामोशी से निकल लेते हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें