15 मई से एक और यात्रा पर दिग्विजय सिंह, कांग्रेस को सत्ता में लाने के लिए निभाएंगे बड़ी भूमिका

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पार्टी के महासचिव दिग्विजय सिंह 15 मई से एक और यात्रा पर निकल रहे हैं। अभी हाल ही में उन्होंने तीन हजार किलोमीटर से अधिक की नर्मदा यात्रा की थी।

अब दिग्विजय सिंह ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात का करीब दो सप्ताह तक इंतजार करने के बाद मध्य प्रदेश में 15 मई से एक और यात्रा निकालने की घोषणा की है।

दिग्विजय सिंह ने कहा कि अपनी इस यात्रा के दौरान वह हर विधानसभा क्षेत्र में जाएंगे और कार्यकर्ताओं एवं नेताओं को एकजुट कर आगामी चुनाव के लिए पार्टी को तैयार करेंगे।

मुख्यमंत्री पद की दौड़ से पहले ही अलग होने का ऐलान कर चुके दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के साथ खास बातचीत में कहा कि अगर विधानसभा चुनाव में पार्टी जीतती है और विधायक उनसे मुख्यमंत्री पद स्वीकार करने के लिए कहते हैं तो भी वह ‘विनम्रता से मना कर देंगे’।

अपनी आगामी यात्रा के बारे में दिग्विज सिंह ने कहा, ‘मैं इसे एक चुनौती के तौर पर लेता हूं। एक-एक विधानसभा क्षेत्र में जाऊंगा और कार्यकर्ताओं को एकजुट करूंगा। हमारे साथ वे नेता भी होंगे जो लोकसभा या विधानसभा के टिकट के आकांक्षी नहीं है।’

मध्य प्रदेश के सीएम रहे दिग्विजय सिंह ने स्वीकार किया कि 2008 में मध्य प्रदेश में सत्ता विरोधी लहर थी, लेकिन कांग्रेस उसका फायदा नहीं उठा पाई। सिंह राज्य में मुख्यमंत्री पद के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता कमलनाथ के नाम का समर्थन करने संबंधी अपने पुराने बयान पर भी कायम हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी आलाकमान जो भी फैसला करेगा, वह उनको स्वीकार्य होगा।

उल्लेखनीय है कि कमलनाथ को आज प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त कर दिया गया है तो ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव प्रचार समिति का प्रमुख बनाया गया। सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री पद के अलावा पार्टी उन्हें जो भूमिका देगी, वह स्वीकार करेंगे। उन्होंने अगला लोकसभा चुनाव लड़ने की संभावना से भी इनकार नहीं किया।

मुख्यमंत्री पद के लिए कमलनाथ को अपनी पसंद बताने संबंधी पुराने बयान के बारे में याद दिलाने पर सिंह ने कहा, ‘2008 में मैंने छिंदवाड़ा में एक सभा में कहा था कि वह (कमलनाथ) नेतृत्व कर सकते हैं। मैं जो कहता हूं, उससे हटता नहीं लेकिन पार्टी नेतृत्व और राहुल गांधी फैसला करेंगे।’

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें