हापुड़ लिंचिंग केस में पुलिस ने मांगी माफ़ी, तस्वीर में दिख रहे 3 पुलिसकर्मी भेजे गए पुलिस लाइन

नई दिल्ली। हापुड़ में भीड़ द्वारा गौकशी के शक में कासिम की पीट पीट कर हत्या के मामले के बाद वायरल हुई एक तस्वीर में पुलिस कर्मियों की मौजूदगी में घायल खून से लतपत कासिम को हाथ पेर पकड़ कर लाये जाने में शामिल पुलिस कर्मियों का पुलिस लाइंस तबादला कर दिया गया है, साथ ही तस्वीर वायरल होने के बाद यूपी पुलिस ने इस घटना के लिए माफ़ी मांगी है।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई इस तस्वीर को लेकर पुलिस की मंशा पर सवाल उठाये गए थे। इस तस्‍वीर के वायरल होने और इसकी कवरेज के बाद यूपी पुलिस ने इस घटना पर माफी मांगी है। यूपी पुलिस ने गुरुवार शाम अपने आध‍िकारिक ट्विटर हैंडल से माफी मांगी।

बता दें कि हापुड़ के पिलखुआ थाना क्षेत्र में पड़ने वाले बछेड़ा खुर्द गांव में समीउद्दीन अपने खेत में घुसी गाय और एक बछड़े को हांककर भगा रहा था। तभी किसी ने गाय की हत्या की अफवाह फैला दी। अफवाह सुन गांव के कुछ गुंडे जमा हो गए और समीउद्दीन तथा उसके दोस्त कासिम की बुरी तरह पिटाई शुरू कर दी।

पुलिस का दावा है कि इस मामले में उसने केस दर्ज कर 25 संदिग्धों को गिरफ्तार भी कर लिया है लेकिन हमारे पास जो जानकारी मौजूद है उसके अनुसार पुलिस ने इस मामले को रोडरेज का मामला बता कर केस दर्ज किया है और गिरफ्तार किये गए लोगों पर मामूली धाराएं लगायी गयी हैं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें