स्टिंग में सामने आया सच: पैसे लेकर खबर चलाने को तैयार ये नामी मीडिया

नई दिल्ली। कोबरा पोस्ट के एक स्टिंग ऑपरेशन में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। स्टिंग ऑपरेशन में सामने आया है कि देश के कुछ नामी मीडिया संस्थान पैसे लेकर खबर चलाने को तैयार हैं।

स्टिंग में सामने आया कि डीएनए, दैनिक जागरण, अमर उजाला, इंडिया टीवी और स्कूपवूप आदि प्रमुख मीडिया संस्थान से जुड़े लोग पैसे लेकर मनगढ़ंत खबर चलाने को तैयार हो गए।

‘ऑपरेशन 136’ के नाम से किये गए इस स्टिंग ऑपरेशन में कोबरा पोस्ट के रिपोर्टर खुद को एक आश्रम से जुड़ा हुआ व्यक्ति बताकर खुद को श्रीमद्भगवद गीता प्रचार समिति का प्रतिनिधि बताते हैं।

स्टिंग ऑपरेशन में 17 मीडिया कंपनियों के अधिकारी ‘नरम हिंदुत्व’ एजेंडे को बढ़ावा देने के लिए खबर चलाने के लिए तैयार हैं। इतना ही नहीं उक्त मीडिया संसथान के लोग आम चुनाव नजदीक आने के मद्देनजर इनमें से कई ऐसा कंटेंट प्रकाशित करने में अपनी रूचि जताते हैं, जिसमें राहुल गांधी, अखिलेश यादव, मायावती जैसे विपक्षी नेताओं के अलावा बीजेपी के अरुण जेटली, मनोज सिन्हा, जयंत सिन्हा, मेनका गांधी और वरुण गांधी की नकारात्मक छवि दिखाई दे।

कोबरापोस्ट का अंडरकवर पत्रकार जिन मीडिया प्रतिनिधियों से मिला, वो या तो क्षेत्रीय मीडिया कंपनियों के मालिक तथा मीडिया कंपनियों के बिजनस ऑपरेशन्स के सीनियर एग्जीक्यूटिव शामिल हैं।

कोबरा पोस्ट के स्टिंग ऑपरेशन में खुलासे के बाद दैनिक जागरण और इंडिया टीवी ने इससे पल्ला झाड़ लिया। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इंडिया टीवी ने कहा कि इस वीडियो से छेड़छाड़ की गयी है। वहीँ कोबरापोस्ट के एडिटर इन चीफ अनिरुद्ध बहल ने कहा कि यह स्टिंग दो हिस्से में है। जल्द ही दूसरा हिस्सा रिलीज किया जाएगा।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें