सोनिया के डिनर में ओवैसी को न्यौता नहीं, ओवैसी और टीडीपी से अलग से बात करेगी कांग्रेस ?

नई दिल्ली। यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी द्वारा 2019 के चुनाव के लिए विपक्ष को एकजुट करने की कवायद के तहत दिए गए रात्रिभोज में आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) तथा तेलगु देशम पार्टी को न्यौता नहीं भेजा गया था।

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस टीडीपी और एआईएमआईएम से अलग से बातचीत करने के बाद उनका मन जानेगी उसके बाद ही उन्हें महागठबंधन में शामिल किये जाने पर अंतिम राय के लिए विपक्ष के अन्य दलों के साथ सलाह मशविरा करेगी।

गौरतलब है कि तेलगु देशम पार्टी ने हाल ही में एनडीए से अलग होने की घोषणा की है। पार्टी के सभी मंत्रियों ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा भी दे दिया है।

वहीँ हाल ही में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव द्वारा गैर कोंग्रेसी गैर भाजपाई दलों का तीसरा मोर्चा बनाये जाने का विकल्प रखा था। जिसका आइएमआइएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने स्वागत करते हुए इस प्रस्तावित तीसरे मोर्चे में शामिल होने की इच्छा भी जताई थी।

सूत्रों की माने तो कांग्रेस नही चाहती कि किसी भी हाल में कोई तीसरा मोर्चा बने और सेकुलर मतो का विभाजन होने से बीजेपी को फिर से 2019 में सत्ता मिल जाए।

सूत्रों के अनुसार कांग्रेस चाहती है कि एनसीपी और तृणमूल कांग्रेस को तीसरे मोर्चे में शमिल होने से रोका जाए साथ ही तीसरे मोर्चे में शामिल होने की इच्छा जता चुके असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम से भी बातचीत की जानी चाहिए।

सूत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी के रात्रि भोज में एआईएमआईएम और टीडीपी को शामिल होने का निमंत्रण भेजे जाने से पहले विपक्ष के अन्य दलों की सहमति जानना आवश्यक था। इसलिए अंतिम समय पर तय किया गया कि टीडीपी और एआईएमआईएम से पहले अलग से बातचीत की जानी चाहिए।

हालाँकि कांग्रेस, एआईएमआईएम अथवा टीडीपी की तरफ से अभी तक सोनिया गांधी ने डिनर कार्यक्रम के आमंत्रण को लेकर कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है। लेकिन सूत्रों की माने तो जल्द ही कांग्रेस टीडीपी और एआईएमआईएम से बातचीत कर सकती है।

सूत्रों ने कहा कि विपक्ष के अधिकतर नेताओं का मानना है कि टीडीपी और एआईएमआईएम को भी साथ ले लिया जाए तो कोई हर्ज नहीं है बल्कि इससे सेकुलर वोटों का डिवीजन रोकने में मदद मिलेगी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें