सुप्रीमकोर्ट का आदेश: शाम 6 बजे तक स्पीकर के समक्ष पेश हों बागी विधायक

नई दिल्ली। कर्नाटक में जदयू- कांग्रेस विधायकों के इस्तीफ़ो से पैदा हुई स्थति में जहाँ कांग्रेस बीजेपी एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप कर रहे हैं वहीँ इस मामले में सुप्रीमकोर्ट ने कहा है कि बागी विधायक आज शाम 06 बजे से पहले विधानसभा स्पीकर के समक्ष पेश हों। इस मामले की अगली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को करेगा।

कांग्रेस और जेडीएस के दस बागी विधायकों की याचिका पर तत्काल सुनवाई करते हुए सुप्रीमकोर्ट ने यह आदेश जारी किया। कोर्ट ने कहा कि सभी दस विधायक स्पीकर से मिलकर उन्हें अपने इस्तीफे का कारण बताएं।

गुरूवार को याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीमकोर्ट ने कहा कि विधायकों के विधायकों के इस्तीफा दिए जाने के मामले में स्पीकर आज ही फैसला लें। कोर्ट ने कर्नाटक के डीजीपी को विधायकों की सुरक्षा के भी निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि कांग्रेस जेडीएस के दस विधायकों ने सुप्रीमकोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा था कि विधानसभा स्पीकर ने उनके इस्तीफे जानबूझ कर स्वीकार नहीं किये हैं। याचिका में विधानसभा अध्यक्ष को इन विधायकों का इस्तीफा स्वीकार करने का निर्देश देने की मांग की गई है।

विधायकों के इस्तीफो के बाद कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष ने इस्तीफे अस्वीकार करते हुए कहा था कि इस्तीफा देने वाले 13 सदस्यों में से आठ का इस्तीफा प्रारूप के अनुरूप नहीं है। उन्होंने विधायकों को पेश होने को कहा ।

ये है विधानसभा की स्थति:

राज्य की 224 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा 113 का है। इसमें विधानसभा अध्यक्ष के अलावा कांग्रेस के 78, जदएस के 37 और बसपा का एक विधायक है। इस तरह गठबंधन विधायकों की कुल संख्या 116 है। दो निर्दलीय विधायकों के समर्थन से भाजपा की संख्या 107 तक पहुंच गई है। अगर बागी 16 विधायकों के इस्तीफे मंजूर हो गए तो गठबंधन विधायकों की संख्या घटकर 100 रह जाएगी।

वहीँ दूसरी तरफ कर्नाटक में कांग्रेस के संकटमोचन बने डी के शिवकुमार ने कहा कि हमे भरोसा है कि सभी विधायक वापस लौट आएंगे और वे अभी भी पार्टी के साथ हैं और अपने इस्तीफे वापस ले लेंगे। डी के शिवकुमार को कल मुंबई में विधायकों से मिलने की कोशिश के बाद पुलिस ने हिरासत में लेकर उन्हें वापस बेंगलुरु भेज दिया था।

वहीँ इन सब गतिविधियों के बीच कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमार स्वामी ने सरकार बचाने और बागी विधायकों से निपटने के लिए अहम बैठक की। इस बैठक में कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने भी भाग लिया। कर्नाटक में अब तक कांग्रेस जेडीएस के 14 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है। मामले को हल करने के लिए कांग्रेस नेता गुलामनबी आज़ाद, मल्लिकार्जुन खड़के, के सी वेणुगोपाल ने बेंगलुरु में डेरा डाल रखा है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें