सीबीआई ने अपने ही बड़े अधिकारी के खिलाफ दर्ज किया रिश्वत लेने का मामला

नई दिल्ली। सीबीआई में दूसरे नंबर के अधिकारी राकेश अस्थाना के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। अस्थाना सीबीआई के दूसरे सबसे बड़े अधिकारी हैं। यह मामला मीट कारोबारी मोईन कुरैशी से जुड़े एक मामले में दर्ज किया गया है।

आरोप है कि राकेश अस्थाना ने मीट कारोबारी मोईन कुरैशी से जुड़े एक मामले में जांच करने के दौरान कथित तौर पर रिश्वत स्वीकार की थी। दो महीने पहले अस्थाना ने कैबिनेट सचिव से सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ यही शिकायत की थी।

सीबीआई ने सतीश साना की शिकायत के आधार पर 15 अक्तूबर को अपने विशेष निदेशक अस्थाना के खिलाफ प्राथमिकी 2018 की आरसी 13 (ए) दर्ज की है ।

मांस कारोबारी मोईन कुरेशी की कथित संलिप्तता से जुड़े 2017 के एक मामले में जांच का सामना कर रहे साना ने आरोप लगाया कि अस्थाना ने उसे क्लीनचिट दिलाने में कथित रूप से मदद की। सीबीआई ने बिचौलिया समझे जानेवाले मनोज प्रसाद को भी 16 अक्तूबर को दुबई से लौटने पर गिरफ्तार किया था।

गुजरात संवर्ग के आईपीएस अधिकारी अस्थाना उस विशेष जांच दल (एसआईटी) की अगुवाई कर रहे हैं जो अगस्टावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले और उद्योगपति विजय माल्य द्वारा की गयी ऋण धोखाधड़ी जैसे अहम मामलों को देख रहा है. यह दल मोईन कुरैशी मामले की भी जांच कर रहा है।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अस्थाना ने 24 अगस्त को कैबिनेट सचिव को एक विस्तृत पत्र लिखकर वर्मा के खिलाफ कथित भ्रष्टाचार के 10 मामले गिनाये थे। इसी पत्र में यह भी आरोप लगाया गया था कि साना ने इस मामले में क्लीनिचट पाने के लिए सीबीआई प्रमुख को दो करोड़ रुपये दिये।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अस्थाना ने प्राथमिकी दर्ज होने के चार दिन बाद केंद्रीय सतर्कता आयुक्त को फिर लिखा कि वह साना को गिरफ्तार और पूछताछ करना चाहते हैं और इस संबंध में 20 सितंबर, 2018 को निदेशक को एक प्रस्ताव भेजा गया था।

अपने पत्र में उन्होंने 24 अगस्त को कैबिनेट सचिव को लिखी अपनी चिट्ठी का भी हवाला दिया जिसमें निदेशक के खिलाफ कथित अनियमितताओं का ब्योरा दिया गया है।

कहा जा रहा है कि पिछले कुछ महीनो से सीबीआई में दो गुट बन गए गए हैं एक गुट आलोक वर्मा का है और दूसरा गुट राकेश अस्थाना का है। दोनो के बीच काफी समय से रिश्ते अच्छे नहीं हैं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें