सीबीआई छापेमारी पर विपक्ष एकजुट, सपा के साथ आये बसपा और कांग्रेस

नई दिल्ली। रेत खनन घोटाले में सीबीआई द्वारा की गयी छापेमारी के बाद दर्ज की गयी एफआईआर में पूर्व सीएम अखिलेश यादव का नाम शामिल किये जाने को लेकर आज संसद में समाजवादी पार्टी ने यह मामला उठाया।

समाजवादी पार्टी के सांसद धर्मेंद्र यादव ने लोकसभा में यह मामला उठाते हुए कहा कि सरकार उत्तर प्रदेश में सपा बसपा गठबंधन से डर गयी है इसलिए वह सीबीआई का दुरूपयोग कर रही है।

वहीँ इस मामले को लेकर समाजवादी पार्टी और बसपा ने एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया। सपा के रामगोपाल यादव और बसपा के सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि अभी हमारा गठबंधन हुआ भी नहीं है और भाजपा ने सीबीआई से गठबंधन कर लिया है।

वहीं, बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने भी भाजपा का घेराव करते हुए कहा कि मुद्दों से भटकाने के लिए सीबीआइ का दुरुपयोग किया जा रहा है। भाजपा की हताशा का आलम यह है कि ये लोग भगवान के नाम पर लोगों को बांट रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हनुमान तक की जाति बताई जा रही है, राम का नाम लेने वाले हनुमान से भी नहीं डर रहे हैं। मिश्रा ने कहा कि आज इन लोगों ने सीबीआइ जैसी संस्था को धराशायी कर दिया है।

वहीँ दूसरी तरफ बसपा प्रमुख मायावती ने उत्तर प्रदेश में खनन से जुड़े एक लंबित मामले में सीबीआई की जांच के दायरे में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को भी शामिल किए जाने को लेकर लगायी जा रही अटकलों को भाजपा का चुनावी हथकंडा बताते हुये सोमवार कहा कि सपा प्रमुख को इससे घबराने की कोई जरूरत नहीं है।

बसपा सुप्रीमो मायावती की ओर से जारी बयान के अनुसार मायावती ने अखिलेश से टेलीफोन पर बात कर कहा ‘‘भाजपा द्वारा इस तरह की घिनौनी राजनीति और इनका चुनावी षडयंत्र कोई नयी बात नहीं है, बल्कि यह उनका पुराना हथकंडा है। इसे देश की जनता अच्छी तरह से समझती है।’’

वहीँ कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद ने कहा, ‘मोदी सरकार ने जो वादे किए उनको पूरा करने पर कोई ध्यान नहीं दिया गया है। सिर्फ इस पर पूरा ध्यान लगाया है कि सीबीआई, ईडी और आयकर विभाग का कैसे अपने विरोधियों को कमजोर करने और उन पर आरोप लगाने के लिए इस्तेमाल करना है।’

उन्होंने कहा कि ‘चाहे कांग्रेस के नेता हों, राकांपा के नेता हों, तृणमूल कांग्रेस, द्रमुक या अन्नाद्रमुक के नेता हों, उन पर सीबीआई, आयकर और ईडी की कार्रवाई के जरिए उनको डराने धमकाने का पूरा प्रयास किया। राफेल का मुद्दा कांग्रेस अध्यक्ष लगातार उठाते आ रहे हैं। पूरा देश कह रहा है कि राफेल खरीद बहुत बड़ा घोटाला है।’

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
loading...