सर्वे में खुलासा: 2019 में एनडीए को बहुमत का टोटा, बीजेपी को 79 सीटों का घाटा

नई दिल्ली। 2019 के आम चुनावो को लेकर जनता को मूड जानने के लिए एबीपी न्यूज़ और सी वोटर द्वारा किये गए सर्वे में खुलासा हुआ है कि इस वर्ष होने वाले आम चुनावो में एनडीए और यूपीए दोनो के लिए बहुमत प्राप्त करना मुश्किल होगा।

सर्वे के मुताबिक यदि अभी चुनाव हों तो बीजेपी को 79 सीटों का नुकसान होगा और इस नुकसान के चलते 2014 के लोकसभा चुनाव में 282 सीटें जीतने वाली बीजेपी इस बार 203 सीटें मिल सकती हैं।

वहीँ कांग्रेस की सीटों में बढ़ोत्तरी होने की सम्भावना है और पिछले चुनाव में 44 सीटें जीतने वाली कांग्रेस को इस बार 109 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है। सर्वे के मुताबिक इस बार एनडीए को 233 सीट और यूपीए को 167 और अन्य को 143 सीट मिल सकती हैं।

इस लिहाज से एनडीए और यूपीए दोनों ही बहुमत के जादुई आंकड़े 272 सीटों से दूर रहेंगे और सत्ता की चाबी अन्य दलों के हाथो में हो सकती है। सर्वे के मुताबिक 2019 के आम चुनाव में एनडीए को 38 फीसदी और कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए को 32 फीसदी और अन्य को 30 फीसदी वोट मिल सकते हैं।

उत्तर प्रदेश में बीजेपी को घाटा:

सर्वे के मुताबिक 2014 के लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में 73 सीटें जीतने वाली एनडीए को उत्तर प्रदेश में बड़ा घाटा हो सकता है। सर्वे के मुताबिक इस वर्ष होने वाले आम चुनाव में एनडीए को महज 25 सीटें मिलेंगी वहीँ सपा बसपा गठबंधन को 51 सीटें और कांग्रेस को 04 सीटें मिल सकती हैं।

बिहार में एनडीए को फायदा:

एबीपी न्यूज़ सीवोटर सर्वे के मुताबिक बिहार में यूपीए को करारा झटका लग सकता है वहीँ एनडीए को बड़ा फायदा मिल सकता है। सर्वे के मुताबिक बिहार में एनडीए गठबंधन राज्य की 40 में से 35 सीटें तक जीत सकता है वहीँ यूपीए को 05 सीटें ही मिल सकती हैं।

झारखंड:

एबीपी सीवोटर सर्वे के मुताबिक झारखंड में यूपीए गठबंधन का प्रदर्शन अच्छा होने के आसार हैं। यहाँ एनडीए को पांच सीटें मिल सकती हैं. वहीं यूपीए को आठ सीट मिल सकती है।

मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान :

एबीपी न्यूज़ और सीवोटर द्वारा किये गए सर्वेक्षण के मुताबिक राजस्थान और मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार होने के बावजूद यूपीए को कोई बड़ा फायदा होता नहीं दिख रहा है। सर्वे के मुताबिक मध्य प्रदेश में एनडीए को 23 और यूपीए को 06 सीटें मिल सकती हैं। वहीँ राजस्थान में राजस्थान की 25 लोकसभा सीट में से एनडीए को 18 और यूपीए को 7 सीट मिलने का अनुमान जताया गया है।

वहीँ छत्तीसगढ़ में यूपीए को फायदा हो सकता है। 2014 के लोकसभा चुनाव में छत्तीसगढ़ की दस सीटें जीतने वाले एनडीए को 2019 के आम चुनाव में घाटा होता दिख रहा है और उसे ग्यारह में से पांच सीटें ही मिल सकती हैं। वहीँ यूपीए गठबंधन को छत्तीसगढ़ में 06 सीटें मिल सकती हैं।

गुजरात:

सर्वे के मुताबिक यदि अभी चुनाव हों तो 2014 के लोकसभा चुनाव में गुजरात की सभी 26 लोकसभा सीटें जीतने वाली बीजेपी को 2019 के आम चुनाव में 02 सीटों का नुकसान हो सकता है और वह राज्य में 24 सीटें तक जीत सकती है वहीँ यूपीए को दो सीटों का फायदा हो सकता है और उसे 02 सीटें मिल सकती हैं।

महाराष्ट्र में यूपीए को फायदा :

एबीपी न्यूज़ सीवोटर के सर्वे के मुताबिक यदि अभी चुनाव हों तो महाराष्ट्र में एनडीए को बड़ा झटका लग सकता है वहीँ यूपीए को बड़ा फायदा हो सकता है। सर्वे के मुताबिक राज्य की 48 लोकसभा सीट में से एनडीए को सिर्फ 20 और यूपीए को 28 सीट मिल सकती है। बीजेपी को 16 और शिवसेना को 4 सीट मिलने का अनुमान है, वहीं कांग्रेस को 19 और एनसीपी को 9 सीट मिलने का अनुमान है।

पश्चिम बंगाल में दीदी का जादू बरकार:

एबीपी न्यूज़ सीवोटर सर्वे के मुताबिक पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी का जादू बरक़रार है। सर्वे के मुताबिक, राज्य में कुल 42 लोकसभा सीटों में से टीएमसी के खाते में 34, बीजेपी को 7 और कांग्रेस को एक सीट मिल सकती है।

ओडिशा :
21 लोकसभा सीटों वाले ओडिशा में बीजेपी को 12, कांग्रेस को तीन और बीजेडी को 6 सीटें मिलने का अनुमान है. यहां फिलहाल बीजेडी की सरकार है।

पंजाब-हरियाणा :

एबीपी न्यूज़ सीवोटर सर्वे के मुताबिक पंजाब में यूपीए का प्रदर्शन बेहतर होने की सम्भावना है। राज्य की 13 लोकसभा सीटों में से एनडीए को एक और यूपीए को 12 सीटें मिलने का अनुमान है। सर्वे के मुताबिक हरियाणा में एनडीए को 07 और यूपीए को 03 सीटें मिलने का अनुमान है।

दिल्ली में बीजेपी की स्थति बरकरार:

एबीपी न्यूज़ सीवोटर सर्वे में राजधानी दिल्ली में बीजेपी की 2014 के चुनावो वाली स्थति बरकरार रहने की सम्भवना जताई गयी है। सर्वे के मुताबिक 2019 के आम चुनाव में भी सभी 07 सीटों पर बीजेपी का कब्ज़ा बना रह सकता है।

दक्षिण भारत में एनडीए को घाटा:

एबीपी न्यूज़ सीवोटर सर्वे के मुताबिक दक्षिण भारत में एक बार फिर एनडीए को घाटा होगा। तमिलनाडु, केरल, आंध्र, तेलंगाना, कर्नाटक को मिलाकर कुल 129 लोकसभा सीटें हैं जिसमें से एनडीए के खाते में सिर्फ 14 सीटें, यूपीए को 69 जबकि अन्य के खाते में 46 सीटें मिल सकती है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें