सरकारी पैसे से हो रही शिवराज की चुनावी यात्रा, चुनाव आयोग पहुंची अहिंसा समाज पार्टी

भोपाल। मध्य प्रदेश में चुनावी वर्ष में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा निकाली जा रही जन आशीर्वाद यात्रा पर विवादों का ग्रहण लगना शुरू हो गया है।

अहिंसा समाज पार्टी का आरोप है कि सीएम शिवराज सिंह चौहान द्वारा निकाली जा रही जन आशीर्वाद यात्रा में सरकारी पैसे का इस्तेमाल किया जा रहा है।

अहिंसा समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष क्यू एम नवेद की अगुवाई में पार्टी के एक प्रतिनिधिमडंल ने चुनाव आयोग में एक ज्ञापन देकर मांग की है कि सीएम शिवराज सिंह की जन आशीर्वाद  यात्रा को तुरंत रुकवाया जाए।

चुनाव आयोग को दिए गए ज्ञापन में अहिंसा समाज पार्टी ने कहा है कि मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी जन आशीर्वाद यात्रा में सरकारी धन का दुरूपयोग करते हुए बीजेपी का प्रचार कर रहे हैं।

ज्ञापन में चुनाव आयोग से कहा गया है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी जन सन्देश यात्रा में बीजेपी को वोट देने की अपील कर रहे हैं। ऐसे में सीएम शिवराज सिंह द्वारा सरकारी धन का इस्तेमाल  कर  आने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी के लिए की जा रही ब्रांडिंग से चुनाव प्रभावित हो सकता है।

ज्ञापन में अहिंसा समाज पार्टी ने चुनाव आयोग से सीएम शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा को तुरंत रुकवाने तथा जन आशीर्वाद यात्रा पर अब तक हुआ पूरा  खर्च भारतीय जनता पार्टी से बसूले जाने की मांग की है।

फिलहाल चुनाव आयोग की तरफ से इस मामले में अभी तक कोई टिप्पणी नहीं आयी है। लेकिन माना जा रहा है कि राजस्थान की वसुंधरा राजे गौरव यात्रा की तरह मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा विवादों में फंसती जा रही है।

निर्वाचन आयोग के कार्यालय में अहिंसा समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष क्यू एम नवेद 

बता दें कि राजस्थान में सीएम वसुंधरा राजे सिंधिया द्वारा विकास गौरव यात्रा शुरू की गयी थी।  इस पर कांग्रेस ने यात्रा में सरकारी पैसे के इस्तेमाल का आरोप लगाते हुए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

बीते माह 5 सितंबर को कांग्रेस की याचिका पर हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए कहा था कि गौरव यात्रा के दौरान चलने वाले वाहनों में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को छोड़कर मंत्रियों अधिकारियों पर सरकारी पैसे खर्च नहीं होंगे।

इस मामले में राजस्थान हाईकोर्ट के जज जीआर मूलचंदानी ने ने फैसला सुनाते हुए कहा था कि चुनावी यात्रा पर सरकारी पैसा खर्च नहीं होना चाहिए।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें