सपा बसपा को झटका: राज्य सभा चुनाव में वोट नहीं डाल पाएंगे मुख्तार अंसारी और हरिओम यादव

लखनऊ। राज्य सभा चुनाव से कुछ घंटो में पहले सपा बसपा को बड़ा झटका लगा है। जहाँ इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बसपा विधायक मुख्तार अंसारी के वोट देने पर रोक लगा दी है वहीँ जेल में बंद सपा विधायक हरिओम यादव को भी प्रशासन ने वोट डालने इजाजत नहीं दी है।

दोनो पार्टियों के एक एक विधायक के वोट देने से बंचित रहने से सपा बसपा नुकसान हो रहा है। इनमे से मुख्तार अंसारी बांदा जेल में बंद हैं। गाजीपुर के स्पेशल जज ने 20 मार्च को अंसारी को वोट देने की छूट दी थी लेकिन योगी सरकार ने स्पेशल जज के आदेश को हाईकोर्ट में चुनौती दे दी थी। इस पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले पर रोक लगा दी है।

वहीँ फिरोजाबाद की जेल में बंद सपा विधायक हरिओम यादव भी कल होने वाले राज्यसभा के चुनाव में वोट नहीं डाल पाएंगे। जेल प्रशासन ने उन्हें वोट डालने की इजाजत नहीं दी है। हरिओम यादव सिरसागंज से विधायक हैं।

एक राज्यसभा सीट को जीतने के लिए 37 वोटों की जरूरत है। ऐसे में सपा बसपा के लिए एक एक विधायक महत्वपूर्ण है। कल सपा के डिनर कार्यक्रम में शिवपाल सिंह यादव और राजा भैया के शामिल होने से सपा को ताकत अवश्य मिली है। राजा भैया के पास दो वोट बताये जाते हैं। एक वोट उनका स्वयं का तथा दूसरा वोट उनके सहयोगी विनोद सरोज का है।

उत्तर प्रदेश में मौजूदा विधायकों की संख्या के लिहाज से बीजेपी के 8 और सपा के एक सदस्य की जीत तय है। बीजेपी के 9वें उम्मीदवार अनिल अग्रवाल और बीएसपी के एकलौते प्रत्याशी भीमराव अंबेडकर के बीच कांटे का मुकाबला है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें