सट्टेबाज़ी को वैध कर पीढ़ियों को बर्बाद करना चाहती है मोदी सरकार

नई दिल्ली। विधि आयोग द्वारा खेलों में सट्टेबाजी को कर के माध्यम से नियमित करने की सिफारिश किए जाने के बाद कांग्रेस ने आज नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि सरकार जुए-सट्टे के माध्यम से पीढ़ियों को बर्बाद करने की तैयारी में है।

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी दावा किया कि देश की जनता सरकार के ‘षडयंत्रकारी निर्णयों’ को देख रही है और आगामी चुनावों में सबक सिखायेगी।

उन्होंने काव्यात्मक अंदाज में तंज कसते हुए कहा, ‘ ग़रीब की ज़िंदगी में जुए के ज़हर का घोल, टैक्स के लिए भविष्य पर सट्टे का मोल। पहले रोज़गार के नाम पर थी पकौड़े बिकवाने की बारी, अब जुए-सट्टे से रोज़गार दे पीढ़ियों को बर्बाद करने की तैयारी।’

सुरजेवाला ने कहा कि, ‘मोदीजी, जनता आपके इन सारे षडयंत्रकारी निर्णयों को देख रही है, अब आपकी सरकार जाने वाली है।’

बता दें कि विधि आयोग ने कल सिफारिश की थी कि क्रिकेट समेत अन्य खेलों पर सट्टे को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर प्रणालियों के तहत नियमित कर वैध गतिविधियों के रूप में अनुमति दी जाये और विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) आकर्षित करने के लिए स्रोत के रूप में इसका इस्तेमाल किया जाये।

आयोग की रिपोर्ट ‘लीगल फ्रेमवर्क : गैंबलिंग एंड स्पोर्ट्स बेटिंग इनक्लूडिंग क्रिकेट इन इंडिया’ में सट्टेबाजी के नियमन के लिए और इससे कर राजस्व अर्जित करने के लिए कानून में कुछ संशोधनों की सिफारिश की गयी है।

सुरजेवाला ने वाराणसी में गंगा नदी में प्रदूषण की मात्रा 58 फीसदी बढ़ने पर भी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट कर आरोप लगाया, ‘‘आरटीआई से खुलासा हुआ है कि मोदीजी ने ‘माँ गंगा’ के नाम पर भी देश को झांसा दिया है। 3800 करोड़ खर्च किए, फिर भी प्रदूषण घटने की बजाय 58 फीसदी बढ़ गया।’

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें