संसद भवन में टीडीपी और टीएमसी का प्रदर्शन, साईं बाबा के भेष में पहुंचे टीडीपी सांसद

नई दिल्ली। आज सुबह संसद शुरू होते ही आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य के दर्जे की मांग कर रही तेलुदेशम पार्टी के सांसदो ने संसद भवन में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष प्रदेश किया। प्रदर्शन में भाग लेने के लिए टीडीपी सांसद सिवाप्रसाद साईं बाबा के गेटअप में पहुंचे।

वहीँ असम में एनआरसी के फाइनल ड्राफ्ट में 40 लाख लोगों के नाम नहीं होने के विरोध में तृणमूल कांग्रेस सांसदों ने भी महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष हाथो में तख्तियां लेकर प्रदर्शन किया।

इससे पहले कल पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने आरोप लगाया था कि एनआरसी के नाम पर असम से बंगालियों और बिहारियों को निकालने की साजिश रची जा रही है।

ममता ने कहा, “एक गेमप्लान के तहत लोगों को अलग थलग किया जा रहा है। हमें चिंता इस बात की है कि लोग अपने ही देश में रिफ्यूजी बनाए जा रहे हैं। बंगाली बोलने वालों और बिहारियों को असम से हटाने की कोशिश हो रही है। इसका असर हमारे प्रदेश पर भी पड़ेगा।”

उन्होंने कहा कि कई लोग ऐसे हैं जिनका आधार कार्ड और पासपोर्ट दोनों है, लेकिन उनका नाम भी एनआरसी में नहीं है। उपनाम देखकर लोगों के नाम हटाए गए हैं। ममता ने कहा कि 40 लाख लोग जिन्हें ड्राफ्ट से बाहर किया गया है, वे कहां जाएंगे?

टीएमसी सुप्रीमो ने केंद्र सरकार पर बंगालियों से भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा कि असम में रहनेवाले बांग्लाभाषी लोगों को खास तौर पर निशाना बनाया जा रहा है। असम में रहनेवाले बांग्लाभाषी रोहिंग्या नहीं हैं। वे भारतीय ही हैं, फिर भी केंद्र उन्हें निशाना बना रही है। उन्होंने इसे संवेदनशील मुद्दा बताते हुए केंद्र से राजनीति से बाज आने को कहा है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें