श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस दिल्ली भेजे गए यशवंत सिन्हा

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा को जम्मू कश्मीर के श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस दिल्ली भेज दिया गया। सिन्हा जो लोगों के साथ फ्लाइट से श्रीनगर पहुंचे थे, उनके साथ एयर मार्शल कपिल काक (सेवानिवृत्त) और सामाजिक कार्यकर्ता सुशोभा भावे भी थे।

यशवंत सिन्हा कश्मीर के हालातो के मद्देनज़र वहां के लोगों से मिलना चाहते थे लेकिन जैसे ही एयरपोर्ट कर्मचारियों को इसकी भनक लगी। वे यशवंत सिन्हा को प्लेन से उतरते ही वीआईपी लाउंज ले गए और उन्हें श्रीनगर में एंट्री न दिए जाने की बात बताई।

इस पर सिन्हा ने एयरपोर्ट अधिकारीयों से जम्मू कश्मीर प्रशासन का वह आदेश दिखाने को कहा जिसके मुताबिक उन्हें श्रीनगर में प्रवेश करने से रोका जा रहा है।

यशवंत सिन्हा ने एयरपोर्ट के सुरक्षा अधिकारीयों से कहा कि जब तक उन्हें श्रीनगर शहर में जाने की अनुमति नहीं मिलती वे वापस दिल्ली नहीं जाएंगे और एयरपोर्ट पर ही रहेंगे। यशवंत सिन्हा को मनाने में एयरपोर्ट अधिकारीयों के पसीने छूट गए लेकिन वे अंततः यशवंत सिन्हा को मनाने में कामयाब रहे।

बाद में यशवंत सिन्हा को आखिरी फ्लाइट से दिल्ली भेज दिया गया। वहीँ सिन्हा के साथ गए अन्य दो सदस्यों एयर मार्शल कपिल काक (सेवानिवृत्त) और सामाजिक कार्यकर्ता सुशोभा भावे को श्रीनगर में प्रवेश की अनुमति दे दी गयी।

गौरतलब है कि इससे पहले श्रीनगर पहुंचे विपक्षी दलों के एक प्रतिनिधिमंडल को भी श्रीनगर में प्रवेश की अनुमति नहीं दी गयी थी। इस प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस जे पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, गुलामनबी आज़ाद के अलावा सीपीआई महासचिव डी राजा, लोकतान्त्रिक जनता दल नेता शरद यादव आदि शामिल थे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें