शिवराज ने दिग्विजय सिंह को कहा देशद्रोही, भड़के दिग्विजय सिंह ने कहा ‘गिरफ्तार करो’

भोपाल। मध्य प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा चुनावो में भले ही अभी समय बाकी है लेकिन बीजेपी के लोग अभी से भाषाई मर्यादा लांघ रहे हैं। मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह ने भाषाई मर्यादा लांघते हुए मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को देशद्रोही कह दिया।

शिवराज के बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज को चुनौती दी है कि यदि उनके पास दिग्विजय के खिलाफ कोई सबूत हैं तो तुरंत मुकदमा दर्ज करके गिरफ्तार करवाएं या फिर सार्वजनिक रूप से माफी मांगे। बता दें कि जन-आशीर्वाद यात्रा पर निकले शिवराज सिंह ने दो दिन पहले कहा था कि दिग्विजय के कुछ कृत्य उन्हें देश विरोधी लगते हैं।

शिवराज के बयान के बाद दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा, “मा. मुख्य मंत्री मप्र शासन शिवराज सिंह जी मुझे “देशद्रोही” मानते हैं। जहां तक मुझे मालूम है मैंने ऐसा कोई कार्य नहीं किया जिसकी वजह से मेरे विरुद्ध संवैधानिक पद पर विराजमान मुख्य मंत्री जी की नजरों में मैं “देशद्रोही” की श्रेणी मे आता हूं।”

उन्होंने आगे कहा कि फिर भी हो सकता है कि उन पर इतना गंभीर आरोप लगाने के लिए सीएम के पास पुख्ता सबूत होंगे अन्यथा वे उन पर इतना गंभीर आरोप नहीं लगाते।

दिग्विजय ने लिखा कि वे एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में अपने आप को 26 जुलाई को भोपाल के टीटी नगर थाने में प्रस्तुत करेंगे ताकि सबूतों के आधार पर मप्र शासन उन्हें गिरफ्तार कर सख्त से सख्त सजा दिलवायें।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, “यदि शिवराज जी ने बिना सबूत मुझ पर इतना बड़ा आरोप लगा दिया तो उन्हें मुझ से सार्वजनिक माफी मांगनी चाहिए। अन्यथा मुझे माननीय अदालत की शरण में जाना पड़ेगा।”

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, सीएम चौहान ने 19 जुलाई को सतना में कहा था, “हिंदू आतंकवाद के बारे में बात करना देश और संस्कृति का अपमान है …. वह ऐसे व्यक्ति हैं जो पुलिस द्वारा मारे गए आतंकवादियों के घरों का दौरा करते हैं और उन्हें गौरव देते हैं। कई बार, दिग्विजय जी के ऐसे कृत्य राष्ट्र विरोधी लगते हैं।”

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *