शिवपाल ने सपा में वापसी की अटकलों पर लगाया विराम, कहा ‘विलय की कोई संभावना नहीं’

लखनऊ। प्रोग्रेसिव समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने सपा में वापसी के कयासों को ख़ारिज करते हुए साफ़ किया है कि फ़िलहाल उनकी पार्टी के किसी अन्य पार्टी में विलय की कोई संभावना नहीं है।

इससे पहले मीडिया में आयी कुछ खबरों में सूत्रों के हवाले से दावा किया गया था कि सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव चाहते हैं कि उनके भाई शिवपाल सिंह यादव की पार्टी में वापसी हो जाए।

खबरों में कहा गया था कि समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव को शिवपाल को सपा में वापस लेन के लिए मनाने की कोशिशें की जा रही हैं।

लखनऊ में सर्किट हॉउस में पत्रकारों के सवालो के जबाव देते हुए शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि उनकी पार्टी 2022 के विधानसभा चुनावो में और ज़्यादा ताकत के साथ चुनाव लड़ेगी।

2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर शिवपाल ने कहा कि हमने गठबंधन करने के लिए प्रस्ताव दिया था लेकिन अन्य दलों ने गंभीरता नहीं दिखाई तो हमने भी प्रयास करने बंद कर दिए।

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि हम चुनाव से पहले राज्य में अपना संगठन मजबूत कर रहे हैं साथ ही अन्य राज्यों में संगठन के विस्तार का काम भी जारी है।

शुक्रवार को शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि लोकसभा चुनाव में पराजित प्रत्याशियों के साथ उनकी समीक्षा बैठक हो चुकी है और अब 2022 के विधानसभा चुनावो को नज़र में रखकर काम किया जा रहा है।

इससे पहले सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद उनके आवास पर देखने पहुंचे शिवपाल यादव का सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आमना सामना अवश्य हुआ था। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे।

माना जा रहा था कि शिवपाल की सपा में वापसी को लेकर जल्द ही घोषणा हो सकती है लेकिन शिवपाल ने ऐसे सभी कयासों को ख़ारिज कर दिया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें