शरद यादव बोले ‘नहीं बन रहा कोई तीसरा मोर्चा, विपक्ष मिलकर लड़ेगा चुनाव’

नई दिल्ली। वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद शरद यादव ने कहा है कि 2019 में विपक्ष एकजुट होकर चुनावी मैदान में उतरेगा। तीसरे मोर्चे के अस्तित्व के सवाल पर शरद यादव ने कहा कि कोई तीसरा मोर्चा नही बन रहा और न इसकी आवश्यकता है।

तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव द्वारा तीसरा मोर्चा बनाने की कवायद के तहत पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी तथा अन्य नेताओं से मुलाकात पर शरद यादव ने कहा कि मुझे नही लगता कि तीसरा मोर्चा बजूद में आएगा। उन्होंने कहा कि अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी लेकिन ये तय है कि तीसरे मोर्चे की बात करने वाले ही संयुक्त विपक्ष की बात करेंगे।

शरद यादव ने कहा कि इस बार संविधान बचाना चुनौती है। इसके लिए साझा विरास्त के मंच पर विपक्ष के सभी नेताओं के एकजुट होने को लेकर मिली कामयाबी से मैं आश्वस्त हूँ।

उन्होंने कहा कि सभी दल उनसे लगातार सम्पर्क बनाये हुए हैं और समय आने पर सब एकजुट होकर एक मंच पर उपस्थित हो जायेंगे। यादव ने कहा कि क्षेत्रीय और निजी हितो के लालच में जो दल विपक्ष की एकता को नज़रन्दाज करेंगे उन्हें भविष्य बीजेपी ही सबक सिखाएगी।

शरद यादव ने कहा कि सामान विचारधारा वाले सभी राजनैतिक दलो को एकजुट करना एक बड़ी चुनौती ज़रूर है लेकिन ऐसा करना नामुमकिन भी नही है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सभी विपक्षी दल समय रहते एक मंच पर आ जायेंगे।

कांग्रेस, सपा, राजद और रालोद में नेतृत्व युवा हाथो में जाने पर शरद यादव ने कहा कि अनुभव को दरकिनार कर गलत फैसले लेने का खामियाजा भुगतना होता है। उन्होंने उत्तर प्रदेश का उदाहरण देते हुए कहा कि यूपी में अखिलेश यादव द्वारा मुलायम सिंह की बात न मानने का खामियाजा और बाद में मुलायम की बात मानकर बसपा से हाथ मिलाने का परिणाम सामने है।

देश के मौजूदा हालतों पर शरद यादव ने कहा कि पहली बार देश की सरकार तेल की बढ़ी हुई कीमतों से चल रही है। उन्होंने कहा कि सालाना 24 लाख करोड़ रुपये के बजट वाली सरकार ने 19.61 लाख करोड़ रुपये तेल की कीमतों पर उत्पाद कर देश की लगाकर जनता से बसूले हैं। इनमे 11.48 लाख करोड़ रुपये केंद्र सरकार ने और बाकी 8.31 लाख करोड़ रुपये राज्यों ने बसूल किये हैं। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था की बदहाली का असर सीधा सीधा आम आदमी पर पड़ रहा है।

Share

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें