वीडियो की सत्यता जाने बिना पीएम ने कही ये बात, चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस

भोपाल ब्यूरो। मध्य प्रदेश में पिछले दिनों एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमे कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को यह कहते दिखाया गया था कि हमे जिताऊ उम्मीदवार चाहिए चाहे वह गुंडा बदमाश क्यों न हो।

कांग्रेस ने दावा किया कि कमलनाथ का वायरल किया गया यह वीडियो छेड़छाड़ करके बनाया गया है। इस वीडियो को लेकर कांग्रेस ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी। इस वीडियो को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा था कि इस वीडियो से छेड़छाड़ की गयी है और इसमें बाहर से शब्द डाले गए हैं।

कांग्रेस ने इस वीडियो के वायरल होने के बाद अपना विरोध जताते हुए इसे बीजेपी के आईटी सेल की शरारत करार दिया था। पुलिस इस वीडियो को लेकर जांच कर रही है। इस सब के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छिंदवाड़ा की अपनी चुनावी सभा में कथित वीडियो को लेकर बातें कहीं।

पीएम मोदी ने छिंदवाड़ा की रैली में इस वीडियो को लेकर जनता से पूछा कि क्या वह ऐसे नेता को वोट देना चाहेगी जो गुंडों-बदमाशों को भी टिकट देने की वकालत करता हो। अब इसी भाषण को लेकर कांग्रेस ने चुनाव आयोग का रुख किया है।

पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा छिंदवाड़ा की रैली में दिए गए भाषण को लेकर कांग्रेस ने चुनाव आयोग से शिकायत की है। कांग्रेस ने पीएम मोदी के इस दावे पर कि कमलनाथ ने एक अंदरुनी बैठक में गुंडों, बदमाशों को टिकट देने की बात कही थी, चुनाव आयोग का रुख किया है।

मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी ने चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखकर पीएम मोदी के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत की है। चिट्ठी में कहा गया है कि छिंदवाडा़ की रैली में पीएम ने झूठ कहा कि कमलनाथ ने एक बैठक में गुंडों-बदमाशों को टिकट देने की बात कही थी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें