विवादित बयान मामले में रामदेव के खिलाफ वारंट

रोहतक। बीते साल रोहतक में आयोजित सद्भावना सम्मेलन में विवादित बयान देने के मामले में रोहतक की एक अदालत ने बाबा रामदेव के खिलाफ वारंट जारी किये हैं। हालाँकि ये वारंट गैर ज़मानती न होने के कारण कोई बड़ा गंभीर कानूनी मामला नहीं बनता।

कोर्ट ने पहले रामदेव को समन जारी किया था, लेकिन वो कोर्ट में पेश नहीं हुए। याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायाधीश ने रामदेव के खिलाफ जमानती वारंट जारी किए हैं। रामदेव के खिलाफ कांग्रेस नेता व पूर्व मंत्री सुभाष बतरा ने अदालत में याचिका दायर की थी।

पिछले साल रोहतक की अनाज मंडी में सद्भावना सम्मेलन में योग गुरु बाबा रामदेव शिरकत करने आए थे। उन्होंने भारत माता की जय बोलने को लेकर मंच से बयान दिया था कि अगर कानून आड़े न आता तो वह भारत माता की जय नहीं बोलने वाले लाखों लोगों का सिर कलम कर देते।

इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। सद्भावना सम्मेलन के अगले दिन कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री सुभाष बतरा ने एसपी को शिकायत देकर मांग की थी कि बाबा रामदेव ने देशद्रोही बयान दिया है, इसलिए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें