विपक्ष को एकजुट करने के लिए सोनिया गांधी के आवास पर आज होगा रात्रिभोज

नई दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए विपक्षी दलों को एकजुट करने में जुटीं कांग्रेस नेता और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने आज विपक्ष के तमाम दलों को रात्रि भोज पर आमंत्रित किया है।

रात्रि भोज में शामिल होने के लिए विपक्ष के 20 दलों को आमंत्रित किया गया है। इनमे से 19 वे राजनैतिक दल हैं जिन्होंने राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति चुनाव के दौरान विपक्ष के उम्मीदवारों का समर्थन किया था।

वहीँ एनडीए से नाता तोड़ने वाली तेलगु देशम पार्टी को भी निमंत्रण भेजा गया है। पार्टी सूत्रों की माने तो यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने स्वयं फोन पर बात करके विपक्ष के नेताओं को रात्रि भोज में शामिल होने का न्यौता दिया है।

बता दें कि आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग को लेकर एनडीए से अलग हुई तेलगु देशम पार्टी और कांग्रेस के बीच पिछले दिनों दूरियां कम हुई हैं। कांग्रेस द्वारा आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की टीडीपी की मांग का समर्थन करने के बाद दोनों पार्टियां कहीं न कहीं एक दूसरे के करीब आयो हैं।

सोनिया गांधी की डिनर डिप्लोमेसी से आज पता चल सकेगा कि विपक्ष के महागठबंधन को लेकर कौन कौन सी विपक्षी पार्टियां गंभीर हैं तथा रात्रि भोज में इसमें कौन कौन से राजनैतिक दल के नेता शिरकत करते हैं।

वहीँ सूत्रों की माने तो उत्तर प्रदेश से बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल, बिहार से राष्ट्रीय जनता दल और जदयू के बागी शरद यादव और जीतनराम मांझी, महाराष्ट्र से एनसीपी, आंध्र प्रदेश से तेलगु देशम पार्टी, असम से एआईयूडीएफ, पश्चिम बंगाल से तृणमूल कांग्रेस, तमिलनाडु से डीएमके, जनता दल सेकुलर, झारखण्ड मुक्ति मोर्चा, मुस्लिम लीग, केरल कांग्रेस, रिवोल्युशनरी सोशलिस्ट पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी आदि के शामिल होने की संभावना है।

सूत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी के रात्रि भोज में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शामिल नहीं होंगी लेकिन उनके प्रतिनिधि के तौर पर दो तृणमूल सांसद शामिल होने। सूत्रों के मुताबिक व्यस्तता के चलते ममता बनर्जी के शामिल होने की संभावना कम है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें