लोकसभा चुनाव तक राम मंदिर मुद्दे पर खामोश बैठेगा विहिप

नई दिल्ली। विश्व हिन्दू परिषद ने कहा है कि वह अगले तीन चार महीनो तक राम मंदिर मुद्दे पर कोई कदम नहीं उठाएगा। विहिप के मुताबिक संगठन नहीं चाहता कि राम मंदिर मामला चुनावी मुद्दा बने इसलिए लोकसभा चुनाव होने तक वह राम मंदिर मामले में कोई अभियान शुरू नहीं करेगा।

विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संयुक्त महासचिव सुरेंद्र जैन ने कहा कि राम मंदिर का मामला धार्मिक आस्था से जुड़ा है इसलिए हम नहीं चाहते कि इसका राजनीतिकरण हो। इसलिए हमने तय किया है कि लोकसभा चुनाव होने तक हम राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर कोई अभियान शुरू नहीं करेंगे।

सुरेंद्र जैन ने कहा कि अक्सर हमारे ऊपर आरोप लगते हैं किसी विशेष दल को राजनीतिक फायदा के लिए राम मंदिर निर्माण का अभियान चला रहे हैं। ऐसे में हम इसें किसी राजनीतिक दल-दल में इस मुद्दे को नहीं फंसाना चाहते हैं। ये एक पवित्र मुद्दा है इसे हम राजनीति से परे रखना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान जब भी कोई आंदोलन होता है, उसे राजनीति से जोड़ा जाता है। इसीलिए हमने फैसला किया है कि इसे हम चार महीने तक कोई आंदोलन नहीं चलाएंगे।

उन्होंने कहा कि राम मंदिर आंदोलन को रोकने की दूसरी बड़ी वजह ये है कि चुनाव घोषणा के साथ ही देश में आचार संहिता लागू हो जाती है। ऐसे में किसी तरह के आंदोलन से अनावश्यक रूप से संघर्ष और विवाद का निर्माण होते हैं।

जैन में कहा कि लोकतंत्र के इस पर्व का सम्मान का फैसला करते हुए वीएचपी ने निर्णय किया है कि हम किसी तरह के विवाद में न पड़े और आचार संहिता के उल्लघंन में बाधा न बने। इसी को देखते हुए राम मंदिर अभियान को चार महीने तक रोकने का फैसला किया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें