लाइव: ममता की रैली में पहुंचे 20 विपक्षी दलों के नेता, शत्रुघ्न सिन्हा भी मौजूद

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस द्वारा आयोजित अब तक की सबसे बड़ी रैली में जन सैलाब उमड़ पड़ा है। रैली स्थल लोगों से खचाखच भरा हुआ है।

इस रैली में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के अलावा 20 विपक्षी दलों के दिग्गज चेहरे मौजूद हैं। बीजेपी को असहज करने वाली बात यह है कि इस रैली में बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा भी भाग लेने पहुंचे हैं। इस रैली में हार्दिक पटेल और जिग्नेश मेवाणी भी मौजूद हैं।

रैली की शुरुआत करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और आयोजक ममता बनर्जी ने कहा कि सभी नेता आ चुके हैं। रैली एक बजे होनी थी लेकिन तय समय से एक घंटे पहले शुरू कर रहे हैं।

यह लड़ाई लोकतंत्र बचाने की है: यशवंत सिन्हा

भाजपा के बागी नेता यशवंत सिन्हा ने कहा कि सवाल एक व्यक्ति को हटाने का नहीं सोच का है। मोदी सरकार ने हर लोकतांत्रिक व्यवस्था को खत्म बर्बाद करने में लगी है। मोदी को मुद्दा न बनाएं, मुद्दों को मुद्दा बनाएं। उन्होंने कहा कि यह लड़ाई लोकतंत्र बचाने की है। कश्मीर की समस्या का समाधान गोली से नहीं बोली से होगा।

सिन्हा ने कहा कि मुझे पाकिस्तान का एजेंट भी कहा गया लेकिन क्या प्यार की बात करना देशद्रोह है। मेरा एक उद्देश्य है, एक लड़ाई बाकी है वो है इस सरकार को सत्ता से बाहर करना। इसके लिए जरूरी कि मंच पर उपस्थित नेता तय करें कि आगामी चुनाव में भाजपा उम्मीदवार के खिलाफ हर सीट पर सिर्फ एक उम्मीदवार खड़ा होगा। मोदी सरकार ने सबका साथ तो लिया लेकिन विकास के नाम पर सबका विनाश किया। देश के किसी भी संस्थान को बर्बाद करने में इन्होंने कोई कसर नहीं छोड़ी है।

सुभाष बाबू लड़े थे गोरों से हम लड़ेंगे चोरों सेः हार्दिक पटेल

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के महारैली में सबसे पहले बोलने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि देश को बचाने के लिए विपक्ष एकजुट है। उन्होंने कहा कि सुभाष बाबू लड़े थे गोरों से, हम लड़ेंगे चोरों से।

अच्छे दिन लाना है तो मोदी को भगाना हैः जयंत चौधरी

अजित सिंह चौधरी के बेटे जयंत चौधरी ने कहा कि यह रैली नहीं रैला है। निजी कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए जनता के पैसों को लूटा जा रहा है। नेता जिद्दी भी होता है। चौधरी चरण सिंह किसानों के लिए जिद्दी थे। ममता कोलकाता के लिए जिद्दी हैं। उन्होंने कहा कि अच्छे दिन लाना है तो मोदी को भगाना है। विपक्षी दल कदम से कदम मिलाकर चलेंगे और भाजपा के तंबू को उखाड़ फेकेंगे।

संविधान को खत्म करने की हो रही कोशिशः जिग्नेश

जिग्नेश मेवाणी ने कहा कि देश बुरे दौर से गुजर रहा है। विपक्ष का एकजुट होना बड़ा संदेश है। देश में किसान, मजदूर और दलितों का शोषण हो रहा है। संविधान को खत्म करने की कोशिश की जा रही है।

जवाब देंगे क्षेत्रीय दल: हेमंत सोरेन

झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता और झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि क्षेत्रीय दल सांप्रदायिक ताकतों को जवाब देंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में दलितों और आदिवासियों का शोषण हुआ है। अरूणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री गेगोंग अपांग ने महारैली में कहा कि पिछले चार साल में भारतीय लोकतंत्र के लिए कई बार परीक्षण हुए हैं।

डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन ने तमिल में संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार की जमकर आलोचना की. उनके संबोधन के दौरान मंच से ही उनके भाषण को बांग्ला में भी ट्रांसलेट किया जा रहा था। इस दौरान उन्होंने नारा लगाया कि मोदी हटाओ, देश बचाओ।

कश्मीर के हालात के लिए बीजेपी ज़िम्मेदार: फारूक अब्दुल्ला

फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि देश में लोगों को बांटने का काम हो रहा है। हिन्दू-मुसलमानों को बांटने का काम किया जा रहा है। पूरे देश में आग लगी हुई है। इसे रोकने के लिए हमें कुर्बानी देनी होगी। इस कुर्बानी के लिए लोगों से पहले नेताओं को आगे आना होगा।

उन्होंने कहा कि आज जम्मू कश्मीर जिस हालत में है उसकी जिम्मेदार भी बीजेपी है। मैं मुसलमान जरूर हूं लेकिन पहले भारतीय हूं। जिसे आप ईवीएम कहते हैं वो चोर मशीन है, इसे खत्म करना चाहिए। इससे चुनाव में चोरी की जाती है। इसके लिए हम सभी नेताओं को एक होकर चुनाव आयोग जाना चाहिए, देश की खुशहाली के लिए इस सरकार को हटाना होगा।

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि यह सरकार महिला आरक्षण बिल पर मौन रहती है और तीन तलाक पर आवाज बुलंद कर देती है। हमें सरकार की मंशा को समझना होगा। हमें भारत को मजबूत करना होगा. उसके लिए दिल मिलाना होगा। सभी दल के नेता यह न सोचें कि कौन प्रधानमंत्री बनेगा बल्कि पहले उन्हें यह सोचना चाहिए कि मोदी सरकार को कैसे हटाना है।

देश की आज़ादी खतरे में हैं: शरद यादव

शरद यादव ने कहा कि नोटबंदी के कारण देश की अर्थव्यवस्था कई साल पीछे चली गई है। उन्होंने कहा था कि दो करोड़ रोजगार देंगे लेकिन कितनों को मिला. केंद्र की सरकार हर संस्था को बर्बाद कर रही है। भारत की आजादी में जितनी कुर्बानी बंगाल ने दी है देश के किसी राज्य ने नहीं दी है।

उन्होंने कहा कि 2019 में केंद्र की सरकार बंगाल की खाड़ी बहाने का काम करेंगे। देश की आजादी खतरे में है। व्यापार और किसान खतरे में हैं। सभी पार्टी के नेताओं को गोलबंद होना पड़ेगा। जनता भी फूट डालने वाले लोगों को हराने का काम करे यह अपील है।

इस दौरान शरद यादव ने घोटाले की बात करते हुए गलती से राफेल की जगह बोफोर्स कह दिया हालांकि उन्होंने बाद में इस पर माफी मांगते हुए कहा कि बोफोर्स नहीं राफेल घोटाले की बात कर रहा था बाद में ममता ने उनकी बात को दोहराया।

राफेल सबसे बड़ा घोटाला, मोदी को हटाने के लिए विपक्ष का एकजुट होना ज़रूरी: शौरी

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी ने कहा कि राफेल जैसा घोटाला किसी सरकार में नहीं हुआ। ऐसी झूठ बोलने वाली सरकार कभी नहीं आई। गुजरात में विपक्ष एक होकर लड़ता तो बीजेपी सत्ता में नहीं आती।

उन्होंने कहा कि विपक्ष एकजूट होकर ही मोदी को हटा सकता है। सत्ता से मोदी को हटाने के लिए विपक्ष को एकजूट होकर अर्जुन बनना पड़ेगा। इस सरकार ने हर संस्था को बर्बाद करने की जिद पकड़ रखी है। मोदी शाह से लोगों को विश्वास उठ गया है। मोदी समझ गए हैं कि सत्ता से उनकी पकड़ हिल गई है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
Loading...