रेप पीड़ित लड़की के घरवालों ने कहा ‘इसे मज़हबी रंग न दें’

नई दिल्ली। गाज़ियाबाद में एक मदरसे में अपने प्रेमी से मिलने पहुंची एक युवती के साथ उसके प्रेमी द्वारा रेप किये जाने की घटना पर पीड़ित लड़की के परिजनों ने कहा है कि इस घटना को मज़हबी रंग न दें।

एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि पीड़ित लड़की के मामा ने कहा कि वह बच्ची नादान है, उसे तो अभी धर्म के मायने भी नहीं मालूम। उन्होंने कहा कि इस घटना को मज़हबी रंग देने की कोशिश न की जाए।

बता दें कि कुछ सुदर्शन टीवी सहित कुछ चैनलों और अखबारों ने इस घटना में मौलवी का नाम घसीटा था। जबकि मदरसे के मौलवी का रेप से कोई लेना देना नहीं है। पुलिस सूत्रों की माने तो चूँकि मामला मदरसे से जुड़ा था इसलिए मदरसे के मौलवी को सिर्फ पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था।

वहीँ सुदर्शन टीवी ने इसे ‘मदरसे में मौलवी द्वारा रेप’ शीर्षक से अपने चैनल पर दिखाया था। इतना ही नहीं कई अखबारों से जुड़े पोर्टलों पर भी इसी तरह के शीर्षकों से जुडी ख़बरें प्रकाशित कर हिन्दू मुस्लिम मामला बताने की कोशिश की गयी थी।

जनसत्ता के अनुसार पुलिस ने हिरासत में लिए गए मौलवी से कई बार पूछताछ की है। वहीँ “नाबालिग आरोपी इस वक्त जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड की हिरासत में है।

जनसत्ता के अनुसार मामले की जांच कर रहे क्राइम ब्रांच के संयुक्त पुलिस आयुक्त आलोक कुमार ने बताया, “जांच अधिकारी जल्दी ही पीड़िता से पूरे मामले की जानकारी के लिए मिलेंगे। गुरुवार को जांच अधिकारियों ने बच्ची से बात करने की कोशिश की थी। लेकिन वह बेहद डरी हुई और सदमे में थी। इस कारण उससे बात नहीं की जा सकी। शुक्रवार को पुलिस अधिकारी फिर से बच्ची से बात करने की कोशिश करेंगे।”

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *