चुनाव

राहुल बोले “पीएम मोदी गुजरात के लोगों पर ट्रिक आजमाते हैं”

अहमदाबाद। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को नवसृजन गुजरात यात्रा के दौरान पाटण में एक सभा में कहा कि ‘जैसे जादूगर ट्रिक करता है जो कि सही नहीं होता, सिर्फ नजर का धोखा होता है, उसी तरह पीएम मोदी गुजरात में लोगों पर ट्रिक आजमाते हैं।’

पीएम मोदी पर कटाक्ष करते हुए राहुल ने कहा, ‘जादूगर ट्रिक के जरिए पैसे कमाते हैं और मोदीजी 22 वर्षों से यही कर रहे हैं।

सोमवार को राहुल गांधी ने मेहसाणा में भी रोड शो किया। मेहसाणा में राहुल गांधी ने देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि गुजरात के दो बेटों (महात्मा गांधी और वल्लभ भाई पटेल) ने देश से अंग्रेजों का साम्राज्य उखाड़ फेंका।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने विसनगर की सभा में कहा कि पहली बार मैंने एक ऐसा प्रदेश देखा है जहाँ सभी समाजो के लोग कोई न कोई आंदोलन कर रहे हैं। चाहे वे हार्दिक पटेल हों, जिग्नेश मेवानी हों, आशा कार्यकर्त्ता हों, आंगनवाड़ी की महिलाएं हों….. पूरा का पूरा प्रदेश आंदोलन कर रहा है।

उन्होंने कहा कि ये कैसी सरकार है, जिसके खिलाफ कोई भी आवाज़ उठाता है तो उसे कुचला जाता है। उन्होंने कहा कि गुजरात में बीजेपी ने 22 साल शासन किया लेकिन बीजेपी से कोई खुश नहीं है।

महात्मा गांधी और सरदार बल्ल्भ भाई पटेल का नाम लेते हुए उन्होंने कहा कि यह वही प्रदेश है जिसके दो बेटो ने अंग्रेजो को देश से निकाला। उन्होंने कहा कि यहाँ बीजेपी की सरकार कुछ उधोगपतियों को फायदा पहुंचाने का काम कर रही है लेकिन यदि जनता अपना हक़ मांगती है तो उसे कुचला जाता है। उन्होंने कहा कि यदि यहाँ किसान आवाज़ उठाते हैं तो उन पर गोलियां चलायी जाती हैं।

इससे पहले पाटन में राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी और केंद्र पर जीएसटी, नोटबंदी, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार को लेकर निशाना साधा। पीएम मोदी के ‘मन की बात’ पर तंज कसते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, ‘कांग्रेस गुजरात के लोगों से मुलाकात करने के बाद चुनावी घोषणापत्र बनाएगी। कांग्रेस दूसरों की ‘मन की बात’ सुनती है न कि दूसरों की तरह है जो सिर्फ अपनी ‘मन की बात’ करते हैं।’

11 नवंबर को राहुल गांधी ने गुजरात का अपना तीन दिवसीय दौरा शुरू किया था। इस बार कांग्रेस नेता की नजर उत्तरी गुजरात पर है। यह इलाका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का गढ़ माना जाता है। हालांकि उत्तरी गुजरात में कांग्रेस ने पिछले विधानसभा चुनाव (2012) में शानदार प्रदर्शन किया था। यहां कांग्रेस ने 32 में से 18 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

उत्तरी गुजरात में ही पाटीदार आंदोलन का सबसे ज्यादा प्रभाव देखा गया था। 2015 में हुए स्थानीय निकाय चुनाव में बीजेपी की यहां करारी शिकस्त हुई थी। ऐसे में कांग्रेस को उम्मीद है कि ठाकोर सेना और ओएससी (OBC, SC ऐंड ST) एकता मंच के संस्थापक अल्पेश ठाकोर के साथ हाथ मिलाने से उसे जरूर फायदा होगा। ठाकोर समुदाय का उत्तरी गुजरात में गहरा प्रभाव है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Facebook

Copyright © 2017 Lokbharat.in, Managed by Live Media Network

To Top