राहुल बोले “चीनी राजदूत से की थी मुलाकात”, मोदी सरकार से पूछा “तीन मंत्री क्यों गए थे चीन”

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने चीनी राजदूत से अपनी मुलाकात की स्वीकारोक्ति देते हुए कहा कि संवेदनशील मामलो की जानकारी रखना मेरा काम है, मैंने चीनी राजदूत, पूर्व एनएसए शिवशंकर मेनन, भूटान के राजदूत और उत्तर पूर्वी राज्यों के कांग्रेस नेताओं से मुलाकात की थी।

साथ ही उन्होंने मोदी सरकार से सवाल किया कि यदि केन्द्र सरकार एक राजदूत से मेरी मुलाकात को इतना बड़ा मुद्दा बना रही है तो उन्हें देश को ये बताना चाहिए कि जब सीमा विवाद का मुद्दा अपने चरम पर है तो केन्द्र के 3 मंत्री इस वक्त क्यों चीनी मेहमाननवाजी का लुत्फ उठा रहे हैं।’

राहुल गांधी ने एक अखबार की रिपोर्ट के साथ एक और ट्वीट किया है , जिसमें पीएम नरेन्द्र मोदी चीनी के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ झूले पर बैठे हैं। राहुल गांधी ने इस तस्वीर को लगा लिखा है कि, ‘मैं रिकॉर्ड के लिए बता दूं कि झूले पर बैठा ये मैं नहीं हूं, वो भी उस वक्त जब लगभग एक हजार चीनी सैनिक भारत की सीमा में घुसपैठ कर आए थे।’

गौरतलब है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी की चीनी राजदूत से मुलाकात का मामला मीडिया के सामने तब आया जब नयी दिल्ली स्थित चीन के दूतावास ने अपनी वेबसाइट पर एक बयान जारी कर कहा कि चीनी राजदूत ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मुलाकात की थी। हालांकि कुछ ही देर बाद चीनी दूतावास ने अपनी वेबसाइट से इस बयान को हटा लिया था।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *